पांड्या और बुमराह के साथ धर्मशाला पहुंचे कोहली, प्रशंसक ने ऐसे किया स्वागत
March 10th, 2020 | Post by :- | 243 Views

एचपीसीए स्टेडियम धर्मशाला में 12 मार्च को भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाले क्रिकेट मैच के लिए टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह के साथ मंगलवार दोपहर बाद धर्मशाला पहुंचे।  वहीं, अपने पसंदीदा क्रिकेटरों के गगल हवाई अड्डे पर पहुंचते ही प्रशंसकों में फोटो और सेल्फी खिंचवाने की होड़ सी गई। हवाई अड्डे पर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का एक प्रशंसक ने अनोखे अंदाज में स्वागत किया।

प्रशंसक ने विराट कोहली के जीरो से हीरो बनने तक के सफर को एक बोर्ड पर दर्शाने का प्रयास किया। प्रशंसक ने हाथों में बोर्ड लेकर कोहली का स्वागत किया। गगल हवाई अड्डे पहुंचने के बाद तीनों खिलाड़ी धर्मशाला स्थित होटल द पवेलियन रवाना हुए।

इससे पहले सुबह भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमों के खिलाड़ी विशेष चार्टर विमान से गगल हवाई अड्डे पहुंचे। यहां से उन्हें विशेष बसों से धर्मशाला स्थित होटल द पवेलियन पहुंचाया गया।

बता दें टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली धर्मशाला स्टेडियम के किंग हैं। यहां जब भी इनका बल्ला बोला है, टीम इंडिया को जीत मिली है। भारतीय टीम ने धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम में अब तक चार मुकाबले खेले हैं। इसमें दो में हार और दो में जीत मिली है। जिन दो मैचों में कोहली ने रन बनाए हैं।

उनमें भारत जीता है। जबकि, दो मैचों में उनका बल्ला खामोश रहा और ये दोनों मैच टीम इंडिया हारी है। 19 अक्तूबर 2014 को भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए एकदिवसीय मुकाबले में विराट कोहली ने 127 रन की पारी खेली। टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 330 रन बनाए।

जवाब में वेस्टइंडीज की टीम 271 रन ही बना सकी। इसके बाद 16 अक्तूबर 2016 को न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत ने धर्मशाला स्टेडियम में वन-डे मैच खेला। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते महज 190 रन बनाए। जवाब में भारत ने चार विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

इस मैच में कोहली ने 85 रनों की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिलाई। इस मैच हार्दिक पांड्या ने शानदार गेंदबाजी करते हुए तीन विकेट लिए थे। यहां इंग्लैंड और श्रीलंका के खिलाफ खेले गए मैच में कोहली का बल्ला नहीं चला और टीम दोनों मैच हार गई थी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।