बैजनाथ शिवमंदिर में इस बार 4 क्विंवटल मक्‍खन से होगा भोले बाबा का श्रंगार #news4
January 12th, 2022 | Post by :- | 170 Views

बैजनाथ : ऐतिहासिक शिव मंदिर बैजनाथ में मकर सक्रांति के उपलक्ष्य पर होने वाले घृत मंडल पर्व के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बार करीब 4 क्विंटल देसी घी से तैयार किए जा रहे मक्खन से मंदिर में स्थापित शिवलिंग के ऊपर घृत मंडल बनाया जाएगा। इसके लिए बुधवार को मंदिर पुजारियों ने देशी घी को जल से धोकर उसे मक्खन का रूप देने का काम शुरू कर दिया है। इस बार खास बात यह है कि कोरोना बंदिशों के कारण किसी भी बाहरी व्यक्ति को घृत मंडल बनाने के कार्य में शामिल नहीं किया जाएगा।

बुधवार को मंदिर के चार पुजारी देसी घी को मक्खन बनाने के लिए लगे रहे। इन सभी का बाकायदा कोविड टेस्ट करवाया गया है।  इस पूरे कार्यों में कोई बाहरी हस्तक्षेप ना हो, इसके लिए इस बार पुलिस के भी दो जवान मंदिर में तैनात किए गए हैं। मंदिर में व्यवस्था देख रहे बैजनाथ एसडीम कार्यालय के कर्मचारी विजय कटोच ने बताया कि इस पर्व को इस बार भी धूमधाम से मनाया जा रहा है। इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी की है। लेकिन इस बार इस पूरे काम में किसी भी बाहरी व्यक्ति की सेवाएं नहीं ली जा रही है। कोरोना को लेकर जारी दिशानिर्देश के अनुसार ही इस पर्व को मनाया जा रहा है। जो पुजारी इस काम में लगे हैं उनका टेस्ट करवाया गया है। मंदिर के पुजारी पंडित उमाशंकर ने बताया कि मकर सक्रांति के दिन सुबह 11 बजे से  घृत मंडल बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

यह मंडल 21 जनवरी सुबह 5 बजे तक रहेगा। इसके बाद उसी दिन इस घृत मंडल को हटाकर इसमें प्रयोग किए गए मक्खन को प्रसाद के रूप में बांट दिया जाएगा। इस मक्खन को खाया नहीं जाता है। इसे श्रद्धालु अपने घर में रख सकते हैं, इसके अलावा ऐसा भी माना जाता है कि चमड़ी से जुड़े रोगों में भी यह मक्खन काफी उपयोगी सिद्ध होता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।