दिवाली पर धर्मशाला के ही पांच स्थानों में अग्निकांड, हजारों का नुकसान #news4
November 5th, 2021 | Post by :- | 165 Views

धर्मशाला : दिवाली की रात धर्मशाला उपमंडल के तहत चार स्थानों में अग्निकांड की घटनाएं हुई हैं जबकि एक घटना शुक्रवार सुबह की है। वहीं शाहपुर उपमंडल के तहत आती बंडी में भी दिवाली की रात अग्निकांड में पराली जली है। धर्मशाला उपमंडल के तहत घटी पांच घटनाओं में रसेहड़ पंचायत के उथड़ाग्रां में दो गोशालाएं जली हैं। जिसमें हजारों का नुकसान अग्निशमन विभाग ने दर्ज किया है। जहां तीन लोगों की एक संयुक्त गोशाला जलकर राख हुई है। इसके अलावा इसी गांव के एक अन्य व्यक्ति की भी गोशाला जली है। गनीमत यह रही है कि इन घटनाओं में कोई हताहत नहीं हआ है।

उपमंडल धर्मशाला के तहत लोअर बड़ोल में भी पराली आग की भेंट चढ़ गई जबकि मैक्लोडगंज में हुए ग्राउंड फायर में करीब 50 लाख रुपये की संपत्ति अग्निशमन विभाग ने बचाई है। अग्निशमन विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार रसेहड़ में दिवाली की रात साढ़े 8 बजे के करीब संसार चंद, किशन चंद व ललित की संयुक्त गोशाला में आग लग गई। करीब दो घंटें की कड़ी मशक्कत के बाद यहां आग पर काबू पाया गया। यहां करीब 10 लाख रपये की संपत्ति बचाई गई है। झिकली बड़ोल में रात 11 बजे पराली को आग लग गई। जिससे पीड़ित जैसी राम को 10 हजार रुपये का नुकसान पहुंचा है।

मैक्लोडगंज में रात 11 बजे के करीब ग्राउंडा फायर की घटना हुई। जिसमें अग्निशमन विभाग के कर्मियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। यहां करीब 50 हजार रुपये का नुकसान हुआ है और 50 लाख रुपये की संपत्ति बचाई गई है। टंग में सरकारी स्कूल के पिछले तरफ रखी पराली को शुक्रवार को आग लग गई। इस घटना में भी करीब 5 हजार रुपये का नुकसान हुआ है। उधर, शाहपुर विधानसभा क्षेत्र के बंडी गांव में भी वीरवार की रात पौने 12 बजे के करीब पराली को आग लग गई। जिससे पीड़ित वीर सिंह को 4 हजार रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है।

मुख्य अग्निशमन केंद्र धर्मशाला के स्थानीय अधिकारी स्वरूप कुमार चौधरी के मुताबिक अलग-अलग हुई आग की घटनाओं में कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है और जैसे कर्मियों को सूचना मिली तुरंत मौके पर स्टाफ भेजकर आग की घटनाओं पर काबू पाया गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।