विधायक होशियार के मुंह पर कालिख पोतने की दी धमकी, पुलिस प्रशासन ने बढ़ाई सुरक्षा
January 16th, 2023 | Post by :- | 54 Views

ट्रक यूनियन सदस्यों से धमकी मिलने के बाद पुलिस प्रशासन ने देहरा के निर्दलीय विधायक होशियार सिंह की सुरक्षा बढ़ा दी है। थानेदार की अगुआई में चार गनमैन उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। जरूरत के हिसाब से सुरक्षा और बढ़ाई जा सकती है।

विधायक के बयान से नाराज द विशाल हिमाचल गुड्स ट्रांसपोर्ट सोसायटी की गगरेट इकाई ने उनके घेराव और मुंह पर कालिख पोतने की धमकी दी है। इसके बाद पुलिस ने यह कदम उठाया है। देहरा के डीएसपी विशाल वर्मा ने इस संबंध में पुष्टि की है।

होशियार ने बयान के लिए मांगी माफी

10 जनवरी को देहरा से शिमला जाते समय सोलन जिले के दाड़लाघाट में ट्रक आपरेटरों ने विधायक होशियार सिंह की कार रोक घेराव किया था। उनका आरोप था कि एक चैनल को दिए इंटरव्यू में विधायक ने ट्रक आपरेटरों के खिलाफ बयान दिया था।

उनके अनुसार विधायक ने प्रदेश में सीमेंट प्लांट बंद होने के पीछे ट्रक यूनियन को जिम्मेदार ठहराया था। इसके बाद होशियार ने बयान के लिए माफी मांगी और कहा कि उनका बयान गगरेट और ऊना को लेकर था। उनके इस बयान के बाद ट्रक यूनियन भड़क गई थी। यूनियन के सदस्य सोमवार को देहरा में इस संबंध में एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपेंगे।

किसी भी संभावित टकराव की आशंका के चलते पुलिस प्रशासन ने कमर कस ली है। देहरा में पुलिस की क्विक रिस्पांस टीम (क्यूआरटी) तैनात रहेगी। आइआरबी सकोह से भी जवानों की रिजर्व टीम तैनात रहेगी। दूसरी ओर, विधायक की सुरक्षा में जरूरत के हिसाब से जवान कम या ज्यादा किए जा सकते हैं।

दो दिन बाद करेंगे चक्काजाम और महापंचायत

दाड़लाघाट ट्रक आपरेटरों की आठ सभाओं ने चेतावनी दी है कि यदि दो दिन में ढुलाई भाड़ा विवाद हल नहीं किया तो कोर कमेटी एनएच पर चक्का जाम व महापंचायत करने का निर्णय लेगी। ट्रक आपरेटर विवाद को हल करवाने के लिए 33 दिन से शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं।

रविवार को भी सैकड़ों आपरेटर अंबुजा सीमेंट प्लांट के मुख्य द्वार पर एकत्रित हुए और अदाणी समूह के विरुद्ध नारेबाजी की। इसके बाद दाड़लाघाट बस स्टैंड से होते हुए अंबुजा चौक तक रैली निकाली। एसडीटीओ के कोषाध्यक्ष राम कृष्ण बंसल ने कहा कि प्लांट को बंद हुए 33 दिन हो गए हैं, लेकिन सरकार की ओर से गठित कमेटी का अब तक कोई भी निर्णय संघर्ष समिति तक न पहुंच पाना अति दुखद है।

अगर बुधवार तक कोई निर्णय नहीं होता है तो चक्का जाम व महापंचायत करने के लिए बाध्य होंगे। उन्होंने कहा कि इंटरनेट मीडिया पर प्लांट शुरू करने की अफवाह प्रसारित हो रही है, जिसमें कई तरह के ढुलाई भाड़े की बात हो रही है। उन्होंने इंटरनेट मीडिया में चल रही खबर का सिरे से खंडन किया है। आपरेटरों से अफवाहों पर भरोसा न करने का आह्वान किया है और कहा है कि अभी आंदोलन खत्म नहीं हुआ है।

उद्योगपतियों की भावनाएं हुई आहत

हरोली ब्लाक इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान राकेश कौशल व अंब, गगरेट व जीतपुर इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान प्रमोद शर्मा ने कहा है कि जिला ट्रक यूनियन के प्रधान सतीश गोगी ने विधायक व उद्योगपति होशियार सिंह के खिलाफ दिए बयान में गलत शब्दावली का प्रयोग किया है। इससे उद्योगपतियों में भय का माहौल है।

रविवार को ऊना में संयुक्त पत्रकारवार्ता करते हुए राकेश कौशल व प्रमोद शर्मा ने कहा कि गोगी ने बयान में कहा है कि विधायक का ऊना में आने पर कड़ा विरोध किया जाएगा। सरकार प्रधान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे। यदि सरकार व प्रशासन ने जल्द गोगी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो ऊना के सभी उद्योगपति अपने-अपने कारखाने बंद करके चाबियां सरकार को सौंप देंगे।

होशियार सिंह विधायक होने के साथ-साथ इंडस्ट्री के सदस्य भी हैं। सतीश गोगी के बयान से उद्योगपतियों की भावनाएं आहत हुई हैं। यदि ऐसे ही बयानबाजी होती रही तो अन्य प्रदेशों के लोग प्रदेश में उद्योग लगाने से पीछे हटेंगे और उद्योगों का विकास रुकेगा।

विधायक माफी मांगें, नहीं तो होगा प्रदर्शन

यूनियन द खबली दोसड़का गुड्स ट्रक यूनियन के सचिव मोहिंद्र सिंह ने कहा कि सोमवार को जिला कांगड़ा और ऊना के विभिन्न ट्रक यूनियन के सदस्य देहरा में प्रर्दशन करेंगे। कहा, विधायक का ट्रांसपोर्टरों को लेकर दिया बयान किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा।

यूनियन के सदस्य देहरा के हनुमान चौक पर जुटेंगे। इसके बाद वे रैली की शक्ल में मिनी सचिवालय पहुचेंगे और एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजेंगे। मोहिंद्र ने कहा कि इस सिलसिले में द खबली दोसड़का गुड्स ट्रक यूनियन की बैठक हुई है। यदि विधायक माफी मांग लेते हैं तो वे धरना-प्रदर्शन रद कर देंगे अन्यथा ट्रक यूनियन उनका विरोध करना जारी रखेगी।

देहरा विधायक होशियार सिंह ने कहा कि मैंने ट्रांसपोर्टरों के खिलाफ कोई ऐसा बयान नहीं दिया है जिससे उन्हें कोई एतराज हो। मैंने मात्र इतना कहा कि कुछ बाहर के लोग आकर माहौल खराब करते हैं। स्थानीय ट्रांसपोर्टरों के खिलाफ मैंने कुछ नहीं कहा है। मामला राजनीति से प्रेरित है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।