शिमला में पुलिस टीम पर हमला, तीन हमलावर गिरफतार …
May 5th, 2020 | Post by :- | 390 Views

शिमला में दो पड़ोसियों के बीच हो रही मारपीट के मामले में कार्रवाई करने गई पुलिस की टीम पर एक परिवार के लोगों ने हमला कर दिया। पुलिस टीम पर आरोपियों ने डंडो व बैट से हमला कर दिया। पुलिस टीम पर हुए इस हमले की घटना में एसएचओ व पुलिस कर्मी को चोटे आईं हैं। पुलिस ने इस मामले में 3 हमलावरों को हिरासत में लिया है। पुलिस टीम पर हमला करने की यह घटना छोटा शिमला थाना अंतर्गत कमला नेहरू अस्पताल के सर्वेंट क्वार्टर के पास पेश आईं।

हुआ यूं कि यहां पर सर्वेंट क्वार्टर में रहने वाली एक युवती ने गत देर रात पड़ोस में रहने वाले परिवार पर मारपीट का आरोप लगाते हुए पुलिस को सूचना दी। पुलिस जब घटनास्थल पर पहुंची तो पता चला कि झगड़े की वजह छेड़छाड़ की है। पुलिस ने जब आरोपियों से पूछताछ की तो इन्होंने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया। थाना सदर से अतिरिक्त पुलिस भेजी गई तथा हालात पर काबू पाया गया।
छोटा शिमला के एसएचओ प्रवीण ने शिकायत में कहा है कि ईशान, ऋषव, तरुण और उनके परिवार के महिला सदस्यों ने पुलिस टीम पर हमला कर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई। इस घटना में वह और उनका स्टाफ चोटिल हुआ है। वहीं आरोपी पक्ष ने घटना से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए पुलिस पर नशे में कार्रवाई करने का आरोप लगाया है।
उधर इस मामले में एसपी शिमला ओमा पति जंबाल ने कहा कि पिछ्ले कल रात करीब 10 बजे केएनएच हॉस्पिटल के पास दो पार्टियां आपस में लड़ रही थी।

पुलिस थाना छोटा शिमला में सूचना आई तथा एसएचओ अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचा ताकि कोई अनहोनी घटना ना हो। वहां पहुंच कर पुलिस को पता चला कि झगड़े की वजह छेड़छाड़ की है। जब इनसे पूछताछ की तो इन्होंने पुलिस पार्टी पर भी अटैक किया। थाना सदर से अतिरिक्त पुलिस भेजी गई तथा हालात पर काबू पाया गया। इस मामले में दो एफआईआर दर्ज की गई है तथा तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

इनमे से एक एफआईआर पुलिस पर अटैक करने की है। इन लोगों पर पहले भी मुक़दमे थाना सदर व छोटा शिमला में दर्ज हैं। इस बीच एक हिस्से का वीडियो बनाकर ऐसा दिखाने की कोशिश की गई है जैसे एसएचओ वहां कोई अपराध करने गया हो। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर बिना सोचे समझे शेयर करने वालों की कमी नहीं है, यह एक अपराध है। वीडियो अपलोड/शेयर करने वाले पर भी कार्रवाई होगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।