गले व कान में इंफेक्शन के मरीज बढ़े #news4
August 6th, 2022 | Post by :- | 122 Views

बिलासपुर : क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर में नाक, कान व गले में इंफेक्शन के मरीजों की एकाएक वृद्धि हो गई है। ईएनटी ओपीडी में पहले 40 ओपीडी रूटीन में दर्ज की जा रही थी, लेकिन अब यह आंकड़ा सौ तक पहुंच गया है। डाक्टर मरीजों को पर्याप्त आराम करने व स्वच्छता का ध्यान रखने की सलाह दे रहे हैं।

बरसात व गर्मी के मौसम में लोगों को इंफेक्शन की ज्यादा समस्या देखने को मिलती है। अस्पताल में रोजाना करीब सात सौ पर्चियां बन रही हैं। इसमें लगभग सौ मरीज ईएनटी ओपीडी से संबंधित ही हैं। अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों में ज्यादातर गले के इंफेक्शन के मरीज हैं। गले में इंफेक्शन के मुख्य लक्षण बुखार व सिरदर्द है। बरसात में कान में बदबू की शिकायत व कानों की परत में सूजन की समस्या रहती है। इससे फंगल इंफेक्शन होने का खतरा भी बना रहता है। डाक्टर का कहना है कि फंगल इंफेक्शन से कानों में खुजली होती है। ऐसा होने पर ज्यादातर लोग कानों में माचिस की तिल्ली या अन्य औजार डालकर कान को खुजाते हैं। इससे संक्रमण बढ़ सकता है।

बरसात में गले, नाक व कान में इंफेक्शन के मरीजों की संख्या बढ़ जाती है। इंफेक्शन को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। इससे बीमारियां बढ़ने का खतरा रहता है। मरीजों को सलाह है कि जब तक इंफेक्शन ठीक नहीं होता तो किसी के संपर्क में न आएं। घर में रहकर आराम करें और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें।

-डा. भूपेंद्र शर्मा, ईएनटी विशेषज्ञ, बिलासपुर अस्पताल।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।