कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए सिरमौर के स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍थानों में पर्याप्त मात्रा में है आक्सीजन: आरके गौतम #news4
January 4th, 2022 | Post by :- | 116 Views

नाहन : कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए जिला सिरमौर के स्वास्थ्य संस्थानों में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन उपलब्ध है। यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर राम कुमार गौतम ने जिला में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मंगलवार को नाहन में आयोजित एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।

उन्होंने बताया कि जिला के सभी अस्पतालों में आक्सीजन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त उन्होंने सभी उपमंडल दंडाधिकारीयों को संबंधित खंड विकास अधिकारी के साथ सभी स्वास्थ्य संस्थानों में कोविड के इलाज से संबंधित सुविधाओं की जांच कर रिर्पोट 07 जनवरी तक भेजने के आदेश दिए।

जिसके पश्चात मुख्यालय से एक जिला स्तरीय अधिकारियों की टीम जाकर इन संस्थानों में स्वास्थ्य सहित अन्य सभी आवश्यक सुविधाओं का जायजा लेगी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को आक्सीजन कंसेंट्रेटर व आक्सीजन सिलेंडर की जांच कर आवश्यकता अनुसार उन्हें ठीक करवाने तथा स्वास्थ्य संस्थानों में उपलब्ध बैड संख्या को और बढ़ाने के निर्देश दिए ताकि किसी भी स्थिति से निपटा जा सके। उपायुक्त ने बताया कि जिला में फिलहाल ओमिक्रोन का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है। उन्होंने बताया कि जिला में नवम्बर 2021 से लेकर अभी तक 76 लोग दूसरे देशों से आए हैं। जिनमें से 48 की कोविड जांच की जा चुकी है तथा शेष की जांच की जा रही है।

उन्होंने बैठक में सभी उपमंडल दंडाधिकारीयों को आदेश दिए की पंचायत स्तरीय टास्क फोर्स को सक्रिय कर जिला में दूसरे देशों से प्रवेश करने वाले सभी लोगों की निगरानी करें और उनके आरटीपीसीआर टेस्ट करवाना सुनिश्चित करें। ताकि ओमिक्रोन को जिला में फैलने से रोका जा सके। अगर ऐसे लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, तो उन्हें होम आइसोलेशन में रखा जाए और उनके सैंपल को दिल्ली भेजा जाए। ताकि जिनोम सिक्वेन्सिंग का पता लगाया जा सके। अगर ऐसे लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आती है, तो भी उन्हें एहतियात के तौर पर होम आइसोलेशन में रखा जाए। बैठक में बताया गया कि बूस्टर डोज लगाने का कार्य जिला में 10 जनवरी से शुरू किया जाएगा। ताकि लोगों को ओमिक्रोन के खतरे से बचाया जा सके।

उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग को जिला में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने तथा उपमंडल दंडाधिकारीयों को एक क्षेत्र में 5 या अधिक पाजिटिव मामले आने पर कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित करने के भी निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त, उन्होंने सभी स्वास्थ्य खंडों में मास्क, रेगुलेटर आदि वस्तुओं की पर्याप्त मात्रा सुनिश्चित करने को कहा। बैठक में सहायक आयुक्त डाक्‍टर प्रियंका चंद्रा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बबीता राणा, उपमंडल दंडाधिकारी पांवटा साहिब विवेक महाजन, उपमण्डल दण्डाधिकारी शिलाई सुरेश सिंघा, उपमंडल दंडाधिकारी संगडाह डा विक्रम नेगी, उपमंडल दंडाधिकारी पच्छाद डॉ शशांक गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संजीव सहगल, प्रधानाचार्य डॉ यशवंत सिंह परमार राजकीय मेडिकल कालेज नाहन डॉ एनके महिंद्रू, जिला राजस्व अधिकारी नारायण चौहान, जिला निगरानी अधिकारी डॉ विनोद सांगल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।