ज्वालामुखी (पंकज शर्मा) : शक्तिपीठ ज्वालामुखी में आज राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर ने माता ज्वाला की दिव्य ज्योतियों के दर्शन किये और पुजारी न्यास सदस्य प्रशांत शर्मा ने उन्हें विधिवत पूजा अर्चना करवाई। राज्यपाल कुछ देर मन्दिर में रुके और माता से सभी पर अनुकंपा बनाए रखने की कामना की। राज्यपाल ने गर्भ गृह के साथ शयन भवन में भी दर्शन किये। मन्दिर न्यास व डीसी कांगड़ा निपुण जिंदल द्वारा राज्यपाल को माता की तस्वीर व सिरोपा भेंट किया गया। इस मौके पर मन्दिर न्यास सदस्य, एसडीएम मनोज ठाकुर, तहसीलदार दीनानाथ यादव आदि भी उपस्तिथ रहे। राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर ने बताया कि यूक्रेन में हिमाचल व अन्य राज्यों के कई लोग फंसे हुए हैं जिन्हें निकालने के लिए प्रदेश सरकार व केंद्र सरकार प्रयासरत है। उनमें कुछ लोगो और छात्रों को निकाला भी गया है और बाकियों को भी जल्द ही निकाल लिया जाएगा। केन्द्र सरकार इस पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है और हरसम्भव प्रयास कर रही है। #news4
February 26th, 2022 | Post by :- | 218 Views

ऊना : ऊना ब्लॉक कांग्रेस के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने आज जिला मुख्यालय पर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया। अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट कांड, विपक्षी विधायकों की जासूसी, खनन माफिया और कर्मचारियों को लेकर सरकार द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं का विरोध करते हुए कांग्रेसी सड़कों पर उतरे। इस मौके पर कांग्रेस के नेताओं ने रोष रैली निकालते हुए प्रदेश सरकार का पुतला भी फूंका। कांग्रेस नेताओं ने पटाखा फैक्ट्री में हुए कांड को लेकर सीधे-सीधे प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि इस मामले में सरकारी विभागों से जवाब तलबी करते हुए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

ऊना ब्लॉक कांग्रेस ने आज जिला मुख्यालय पर भारी बारिश के बीच प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया। पटाखा फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट कांड को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ मुखर हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस मामले के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया। वहीं कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार को कर्मचारी विरोधी करार देते हुए जमकर नारेबाजी की। जबकि विपक्ष के विधायकों और नेताओं की जासूसी करने का आरोप भी जयराम सरकार पर जड़ा गया। इसके साथ ही कांग्रेसियों ने प्रदेश सरकार पर खनन माफिया को संरक्षण देने के भी आरोप जड़े। इस मौके पर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रविंद्र सहोड़ ने मांग की है कि पटाखा फैक्ट्री में हुए धमाके के चलते जान गवाने वाली 9 महिलाओं के परिजनों को 25-25 लाख रुपए की मुआवजा राशि दी जानी चाहिए। वहीं कांग्रेस नेताओं ने इसी घटना में घायल हुए लोगों के लिए भी 10-10 लाख रुपए की सहायता राशि देने की मांग उठाई। उन्होंने मांग की है कि इस घटना की निष्पक्ष जांच करते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।