शिमला में फर्जी सर्टिफिकेट के आधार पर ले ली पोस्ट ऑफिस में नौकरी
January 10th, 2023 | Post by :- | 62 Views

शिमला : हिमाचल में फर्जी डिग्रियों से संबधित मामले बढ़ते जा रहे हैं। मेडिकल कॉलेज में फर्जी दस्तावेजों का प्रयोग कर सीट हासिल करने के बाद अब फर्जी  सर्टिफिकेट से नौकरी हासिल करने का मामला सामने आया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शिमला पोस्टल डिविजन के तहत देवनगर शाखा में एक व्यक्ति ने अपने फर्जी सर्टिफिकेट देकर नौकरी ले ली। पुलिस ने इस मामले में शिकायत मिलते पर एफआईआर दर्ज की है। शिमला पोस्ट ऑफिस के सुपरिंटैंडैंट विकास नेगी ने पुलिस में दर्ज शिकायत में बताया कि शिमला पोस्टल डिविजन के तहत देवनगर शाखा में ग्रामीण डाक सेवक शाखा पोस्ट मास्टर के चयन के लिए उम्मीदवारों के इंटरव्यू हुए थे।

इस दौरान एक उम्मीदवार जिसका नाम मनीष कुमार है, उसका चयन देवनगर शाखा में ग्रामीण डाक सेवक शाखा पोस्ट मास्टर के पद पर हुआ। उसने गत 9 सितम्बर, 2022 को अपने पद पर ज्वाइन किया। शिकायतकर्ता विकास नेगी ने बताया कि उक्त व्यक्ति का मैट्रिक सर्टिफिकेट जांच के लिए निदेशक झारखंड अकैडमिक काऊंसिल ज्ञानदीप कैंपस भेजा गया। वहां पर जांच के दौरान उसका सर्टिफिकेट फर्जी निकला। उक्त आरोपी सरकाघाट जिला मंडी का रहने वाला है। सुपरिंटेडेंट विकास नेगी की शिकायत पर पुलिस ने थाना सदर में धारा 420, 467, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं अब पुलिस इस मामले का पूरा रिकॉर्ड कब्जे में लेगी। इसके बाद आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।