दर्दनाक हादसा: श्रद्धालुओं से भरा ट्रक पलटा, 2 की मौत, 50 घायल #news4
March 21st, 2022 | Post by :- | 283 Views

अम्ब : डेरा बाबा बड़भाग सिंह होली मेला मैड़ी के दौरान एक ट्रक पलटने से 2 श्रद्धालुओं की मौत हो गई और 50 श्रद्धालु गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं। यह सड़क हादसा सोमवार सुबह नैहरी-नंदपुर लिंक रोड पर पड़ते सैक्टर-8 में पंजोआ क्षेत्र में हुआ। मैड़ी मेला से श्रद्धालुओं को लेकर तरनतारन (पंजाब) जा रहा एक डबल डैकर ट्रक सड़क किनारे एक खाई में पलट गया। प्रशासन ने स्थानीय लोगों की सहायता से तुरंत घटनास्थल पर रैस्क्यू आप्रेशन चलाकर ट्रक में फंसे हुए श्रद्धालुओं को सिविल अस्पताल अम्ब पहुंचाया जहां डाक्टरों ने एक महिला सहित 2 श्रद्धालुओं को मृत घोषित कर दिया। मृतकों की पहचान जगतार सिंह (42) पुत्र दलीप सिंह व राजकौर (40) पत्नी रणजीत सिंह दोनों निवासी मुरादपुर, तरनतारन (पंजाब) के रूप में हुई है।

अस्पताल में डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद 18 श्रद्धालुओं को क्षेत्रीय अस्पताल ऊना रैफर कर दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार ट्रक में तरनतारन के अधीन पड़ते गांव मुरादपुर की संगत सवार थी और लगभग सभी धार्मिक स्थल में पंजे का प्रसाद लेने के बाद अपने-अपने घरों को जा रहे थे लेकिन सड़क पर अचानक ट्रक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खाई में पलट गया।

ये हुए घायल
घायलों में ट्रक चालक चरणजीत उर्फ चांद (30) पुत्र सुखदेव, किशन (23), सागर (20), अभिजोत (10), मंदीप कौर (28), सिमरन (10), एकम (8), बब्बल (24), पूनम कौर (26), गुरवाज (20), सोनिया महंत (32), सुखदेव राज (67), सुखदेव सिंह (31), राजविन्द्र कौर (35), निंदर कौर (60), मंगल सिंह (34), लवप्रीत (13), ममता (22), रणजीत सिंह (42), विजय (18), एकमदीप सिंह (5), नवजोत कौर (7), मनप्रीत (21), सिमरजीत कौर (45), सुखदेव (60), अभि (10), बलदेव (60), कुलदीप (26), आरती, लाजविन्द्र कौर, तरसेम सिंह, अजय, मेजर सिंह, हरपाल सिंह (23), इंद्रजीत (14), साहिल (18), लखविन्द्र (52), हरभजन (30), हरजिन्द्र (47), सोनिया (31), कालू (35), भागवंत कौर (49), गुरसेवक सिंह (13), हरजीत (22), निशा (16), तारा सिंह (60), हरभजन सिंह (58), गुरदीप (50) सहित 50 श्रद्धालु शामिल हैं।

इन श्रद्धालुओं को रैफर किया क्षेत्रीय अस्पताल
किशन, सागर, अभिजोत, मंदीप कौर, सिमरन, एकम, बब्बल, गुरवाज, सोनिया महंत, सुखपाल, सुखदेव, राजविन्द्र कौर, निंद्र सिंह, मंगल सिंह, लवप्रीत, ममता व रणजीत की हालत नाजुक देखते हुए क्षेत्रीय अस्पताल ऊना को रैफर किया गया है। गंभीर रूप से जख्मी हुए श्रद्धालुओं की किसी को हैड इंजरी है तो किसी को चैस्ट इंजरी तो किसी की टांग फै्रक्चर हो गई है।

ट्रक के ड्राइवर कैबिन में सवार भगवंत कौर ने बताया कि इस घटना के दौरान चालक ने ट्रक को नियंत्रित करने का प्रयास किया लेकिन ट्रक सड़क किनारे पलट गया। कयास लगाए जा रहे हैं कि ट्रक की कमानी एवं पट्टा टूटने से यह हादसा पेश आया है। हालांकि यह बाद में पुलिस द्वारा करवाए जाने वाले मैकेनिकल मुलाहिजे के बाद ही तस्वीर साफहो पाएगी कि दुर्घटना का असल में क्या कारण रहा है।

डी.सी. ने जाना घायलों का हाल
डी.सी. ऊना राघव शर्मा ने घटनास्थल पर जाकर राहत एवं बचाव कार्यों का निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने अस्पताल में घायलों का हाल भी जाना। प्रशासन द्वारा मृतकों के परिजनों व घायलों को रिलीफ मैनुअल के अनुसार फौरी सहायता प्रदान की गई है। मृतकों के परिजनों को फौरी राहत के तौर पर 10 हजार और गंभीर रूप से घायल हुए 3 श्रद्धालुओं को 5-5 हजार और क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में रैफर किए गए घायलों को प्रति व्यक्ति 2 हजार रुपए की आर्थिक मदद प्रदान की गई है। एस.डी.एम. मनेश यादव ने कहा कि प्रशासन द्वारा टैक्सियां मुहैया करवाकर प्राथमिक उपचार के बाद श्रद्धालुओं (अस्पताल से छुट्टी होने के बाद) को उनके घरों तक छोड़ा गया है।

उधर, सड़क हादसे के बाद स्वयंसेवी संस्थाएं भी सेवा में जुटी रहीं। ट्रक यूनियन अम्ब की तरफ से जमालदीन ने अस्पताल में उपचाराधीन श्रद्धालुओं को हल्दी वाला दूध वितरित किया, वहीं आपदा प्रबंधन के तहत वालंटियर संदीप कुमार, पूर्व प्रधान पंजोआ लडोली शशि वाला ने घटनास्थल पर रैस्क्यू करवाने में मदद प्रदान की। बी.एम.ओ. अम्ब डा. राजीव गर्ग ने बताया कि करीब आधे घंटे के भीतर ट्रक के बीच फंसे श्रद्धालुओं का रैस्क्यू करके एम्बुलैंसों के माध्यम से अस्पताल पहुंचा दिया गया।

पुलिस मेला अधिकारी एवं ए.एस.पी. ऊना प्रवीण धीमान का कहना है कि पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद ट्रक को कब्जे में ले लिया है और आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। इस बार मेले में श्रद्धालुओं से भरे हुए मालवाहक वाहनों को आगे प्रवेश नहीं दिया गया और सीमा पर स्थापित किए नाकों पर मालवाहक वाहनों से उतारकर श्रद्धालुओं को बसों के माध्यम से मेला क्षेत्र में भेजा गया। उन्होंने कहा कि शुरूआती जांच में पाया जा रहा है कि यह ट्रक मेला शुरू होने से पहले ही मैड़ी आ गया था।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।