राजस्थान के भीलवाड़ा में 6 डॉक्टर और कंपाउंडर संक्रमित, अस्पताल आने वाले 5000 मरीजों की ट्रेकिंग शुरू; प्रदेश में एक ही दिन में 8 केस
March 20th, 2020 | Post by :- | 252 Views

राजस्थान में शुक्रवार को कोरोनावायरस के 8 केस सामने आए। इनमें भीलवाड़ा के 6 और जयपुर के 2 मरीज शामिल हैं। भीलवाड़ा में संक्रमित होने वाले छह लोगों में से तीन डॉक्टर और तीन कंपाउंडर हैं। ये सब शहर के एक निजी अस्पताल में काम करते थे। घटना के बाद अस्पताल को सील कर दिया गया। प्रदेश में अब तक 17 मरीजों में कोरोनावायरस की पुष्टि हो चुकी है। शुक्रवार को ही कोरोना का इलाज करा चुके इटली के पर्यटक की मौत हो गई थी। डॉक्टरों के मुताबिक उसकी मौत की वजह कोरोना न होकर कुछ और थी।

भीलवाड़ा में संक्रमित पाए गए डॉक्टर-कंपाउंडर जिस अस्पताल में काम करते थे, वहां 5080 लोगों के पहुंचने की जानकारी मिली है। इन सभी की सूची बनाई जा रही है। इसके बाद भीलवाड़ा जिले को हाई अलर्ट पर रखा गया है। शहर में कुल 13 स्थानों पर 400 बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। हालांकि, अब तक 10 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव भी आई है।

सुबह 7-10 और शाम 5-7 बजे ही निकल सकेंगे लोग

भीलवाड़ा जिला प्रशासन ने लोगों से घर में ही रहने को कहा है। प्रशासन ने लोगों से कहा है- दैनिक जरूरतों का सामान लेने के लिए सुबह 7-10 और शाम को 5-7 बजे के बीच ही घर से बाहर निकलें। जिले में सभी प्रकार के वाहनों के परिवहन पर भी रोक लगा दी गई है।

इटली के पर्यटक ने दम तोड़ा
देश में कोरोनावायरस के संक्रमित मिले पहले विदेशी पर्यटक की शुक्रवार को जयपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई। राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि इटली का पर्यटक रेगुलर स्मोकर था। कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर उसे दूसरी बीमारियों के इलाज के लिए फोर्टिस हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया था। अब मौत का कारण कोरोना से अलग मिला है। इससे पहले भारत में कोरोनावायरस से कर्नाटक के कलबुर्गी, दिल्ली, मुंबई और पंजाब के नवांशहर में मौतें हो चुकी हैं। सभी मृतक 60 साल से ज्यादा उम्र के थे।

जयपुर में स्विजरलैंड और यूएस से आए मरीज

जयपुर में स्विजरलैंड से लौटे एक व्यक्ति और यूएस से लौटी एक महिला कोरोना पॉजिटिव मिली है। सभी को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। महिला वैशाली नगर की रहने वाली बताई जा रही है।

गहलोत बोले- नुकसान की कल्पना नहीं की जा सकती

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा- वैश्विक महामारी बन चुके कोरोनावायरस से होने वाले नुकसान की कल्पना भी नहीं की जा सकती। हमारी छोटी सी लापरवाही भयावह स्थिति पैदा कर सकती है। ऐसे में सभी सरकारी नुमाइंदों, जनप्रतिनिधियों, धर्मगुरूओं सहित सभी प्रदेशवासियों की जिम्मेदारी है कि वे कोरोना को हराने के लिए पूरी सजगता एवं सतर्कता के साथ इस चुनौती का सामना करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।