ट्रंप ने पीएम मोदी से की थी जिस दवा की मांग, सरकार ने उसके एक्सपोर्ट पर लगाया बैन
April 5th, 2020 | Post by :- | 292 Views

नई दिल्ली: भारत सरकार ने मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सिक्लोरोक्वीन के निर्यात पर पाबंदी और सख्त कर दी है. अमेरिका में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच राष्ट्रपति ट्रंप ने ये दवा भारत से मांगी थी, लेकिन भारत सरकार मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा हाइड्रोक्सिक्लोरोक्वीन के निर्यात को लेकर सख्ती बरत रही है.

इस पाबंदी के तहत अब विशेष आर्थिक क्षेत्रों (सेज) की इकाइयों को भी रोक के दायरे में शामिल कर दिया गया है.

सरकार देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण परिस्थिति बिगड़ने की आशंकाओं को देखते हुए ये रोक लगा रही है, ताकि देश में जरूरी दवाओं की कमी न हो.

विदेशी व्यापार महानिदेशालय ने एक अधिसूचना में कहा, ‘हाइड्रोक्सिक्लोरोक्वीन और इससे बनने वाली अन्य दवाओं का निर्यात अब सेज से भी नहीं हो सकेगा, भले ही इसके लिए पहले मंजूरी दी जा चुकी हो या फिर भुगतान किया जा चुका हो. निर्यात पर बिना किसी छूट के पाबंदी रहेगी.’

बता दें​ कि सीमा शुल्क नियमों के मामले में सेज को विदेशी निकाय माना जाता है. इस वजह से निर्यात पर रोक के आदेश आम तौर पर सेज पर लागू नहीं होते हैं.

सरकार ने घरेलू बाजार में उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए हाइड्रोक्सिक्लोरोक्वीन के निर्यात पर 25 मार्च को रोक लगाने की घोषणा की थी.

वहीं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन कर हाइड्रोक्सिक्लोरोक्वीन की आपूर्ति करने का अनुरोध किया है. लेकिन अब पाबंदी के बाद ऐसा होना मुश्किल लग रहा है.

 

ZEE NEWS

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।