कचरा निष्पादन संयंत्र के लिए ढाई बीघा जमीन चिह्नित #news4
February 22nd, 2022 | Post by :- | 103 Views

कुल्लू : कसोल-मणिकर्ण देश-विदेश के सैलानियों के लिए पंसदीदा स्थल है। क्षेत्र में मूलभूत सुविधाओं को विकसित करने के लिए योजना बनाई गई है। सोमवार को हुई विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण (साडा) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कई निर्णय लिए गए हैं। कुल्लू के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर भी बैठक में उपस्थित रहे।

आशुतोष गर्ग ने कहा कि कसोल-मणिकर्ण साडा क्षेत्र में स्नानागृहों व शौचालयों का निर्माण किया जाएगा। पर्यटन स्थल में कचरा निष्पादन सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। साडा क्षेत्र में ठोस कचरा निष्पादन (एसटीपी) संयंत्र लगाने के लिए ढाई बीघा जमीन चिह्नित की र्ग है और जल्द ही निर्माण प्रक्रिया आंरभ की जाएगी। जलानाला से कसोल तक सड़क के सुधार के लिए लोक निर्माण विभाग प्राकलन तैयार कर कार्य शुरू करेगा। मंदिर के समीप खाली भूमि पर दो मंजिला पार्किंग का निर्माण किया जाएगा।

कसोल व मणिकर्ण में पार्किंग की समस्या को समाप्त करने के लिए दो-तीन जगहों पर पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। हालांकि मौजूदा पार्किंग को वन विभाग को विकसित करने के निर्देश दिए गए।

————

सड़क किनारे से हटेंगे कब्जे

सड़क किनारे तथा वन भूमि में अनाधिकृत कब्जों से क्षेत्र की खूबसूरती को ग्रहण लग रहा है। इन कब्जों को तुरंत हटाने के लिए एसडीएम को निर्देश जारी किए हैं। साडा क्षेत्र में लगाए गए सड़क किनारे अनाधिकृत होर्डिंग्स, पोस्टर व बैनर को हटवाने के लिए आदेश जारी किए गए हैं।

————-

हाई मास्ट लाइट लगाने का सुझाव दिया

विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने साडा क्षेत्र में विकास और सुविधाएं नजर आनी चाहिए। उन्होंने बैरियर से मणिकर्ण तक 30 वाट क्षमता की हाई मास्ट लाइट लगाने का सुझाव दिया। देवता पार्क को विकसित, साथ ही जगह-जगह पर लोगों के लिए बैंच स्थापित करने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में साडा का कार्यालय खोला जाना चाहिए ताकि लोगों को सुविधाएं मिले।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।