खनेरी अस्पताल में दो माह से अल्ट्रासाउंड मशीन बंद #news4
April 30th, 2022 | Post by :- | 105 Views

रामपुर बुशहर : रामपुर के महात्मा गांधी चिकित्सा सेवा परिसर खनेरी में दो माह से रेडियोलाजिस्ट न होने से अल्ट्रासाउंड मशीन बंद है। इस कारण मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अस्पताल में आने वाले मरीजों को एक बार फिर निजी क्लीनिक में अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए भारी भरकम राशि चुकाने पर मजबूर होना पड़ रहा है।

इस समस्या को दूर करने के लिए अस्पताल की ओर से सरकार को पांच बार पत्र भेजे जा चुके हैं। इसके बावजूद समस्या दूर नहीं हुई है। लोगों की सुविधा का ख्याल न तो सरकार ने और न ही स्वास्थ्य विभाग ने रखा है। रामपुर के खनेरी अस्पताल में रोजाना करीब एक हजार मरीजों की ओपीडी रहती है। सीमावर्ती चार जिलों के लोगों को यह अस्पताल सुविधा दे रहा है। 250 बिस्तर की क्षमता वाले इस अस्पताल में हमेशा कोई न कोई दिक्कत मरीजों को पेश आती है लेकिन जनता की सेहत को लेकर कोई गंभीर नहीं है। अल्ट्रासाउंड करने के अस्पताल में करीब 300 रुपये वसूले जाते हैं। वहीं, निजी क्लीनिक में इसके लिए दोगुना से भी ज्यादा दाम देने पड़ रहे हैं। अस्पताल में अल्ट्रासाउंड से संबंधित कई मरीज रोजाना आते हैं लेकिन उनका निजी क्लिनिक में जाना मजबूरी बन गई है।

अस्पताल में विभिन्न बीमारियों से संबंधित अल्ट्रासाउंड रोजाना लिखे जाते हैं। ऐसे में कई बार मरीज को रामपुर के अलावा दूसरी जगह निजी क्लीनिक में जाकर सुविधा लेनी पड़ती है। सरकार के नुमाइंदे भी इस समस्या को लेकर गंभीर नहीं हैं जबकि उन्हें अस्पताल की सारी स्थिति मालूम है। इस संबंध में अस्पताल प्रबंधन का उच्च अधिकारियों के साथ पत्राचार भी होता रहता है। विपक्ष में बैठे लोग भी जनता की आवाज को उठाने में नाकाम रहे हैं। सरकार को अस्पताल से चार पत्र पहले भेजे जा चुके हैं। शनिवार को एक बार फिर पत्राचार के माध्यम से रेडियोलाजिस्ट की जल्द तैनाती करने की मांग की गई है।

-डा. प्रकाश धरोच, अस्पताल प्रभारी, खनेरी अस्पताल।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।