Unacademy ने हिमाचल सरकार के साथ साइन किया MoU, अनुराग बोले-पूरे प्रदेश को मिलेगा लाभ #news4
February 16th, 2022 | Post by :- | 88 Views

हमीरपुर : भारत के सबसे बड़े लर्निंग प्लेटफॉर्म अनएकैडमी ने बुधवार को हिमाचल सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। यह एमओयू हिमाचल प्रदेश के प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए राज्य के मेधावी छात्रों की पहचान करने और उन्हें सशक्त बनाने के लिहाज से किया गया है। एमओयू के तहत यह पायलट प्रोजैक्ट सबसे पहले हमीरपुर जिले में आयोजित किया जाएगा। समझौता ज्ञापन के अनुसार हिमाचल सरकार का उच्च शिक्षा निदेशालय (डीएचई) और अनएकैडमी मिलकर 2 वर्षों में 2 योग्यता परीक्षण आयोजित करेंगे। इसके माध्यम से प्रदेश के 650 मेधावी छात्रों की पहचान की जाएगी और इन छात्रों को प्रतियोगी परीक्षा पाठ्यक्रमों के लिए अनएकैडमी छात्रवृत्ति प्राप्त करने के लिहाज से योग्यता परीक्षण से गुजरना होगा। 650 मेधावी छात्रों में से हमीरपुर की 500 छात्राओं को अनएकैडमी के मैगा राष्ट्रीय कार्यक्रम शिक्षादय के तहत फ्री स्कॉलरशिप मिलेगी।

शिक्षार्थी के जीवन को बदलने की क्षमता रखता है शिक्षा में टैक्नोलॉजी का उपयोग : अनुराग ठाकुर

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा मामले और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि शिक्षा में टैक्नोलॉजी का उपयोग सीखने के तरीके को बदलने और प्रत्येक शिक्षार्थी के जीवन को बदलने की क्षमता रखता है। उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि अनएकैडमी के साथ जुड़ाव अपनी तरह का पहला ऐसा प्रयास होगा जो न केवल हमीरपुर के युवाओं को शिक्षित और सशक्त करेगा बल्कि पूरे हिमाचल प्रदेश को लाभान्वित करेगा, साथ ही अनएकैडमी के शिक्षादय कार्यक्रम के तहत हमीरपुर की लड़कियों को भी प्रतिष्ठित करियर के अवसरों की तैयारी के लिए सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों से सीखने के समान अवसर मिलेंगे।

हिमाचल सरकार के साथ सांझेदारी करके खुश हैं अनएकैडमी ग्रुप के को-फाऊंडर

वहीं अनएकैडमी ग्रुप के को-फाऊंडर और सीईओ गौरव मुंजाल ने कहा कि प्रदेश के सबसे बड़े लर्निंग प्लेटफॉर्म के रूप में अनएकैडमी भौगोलिक बाधाओं को पार करते हुए सभी विद्यार्थियों तक गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस सांझेदारी के माध्यम से हम न केवल हिमाचल प्रदेश के युवाओं को सशक्त बनाएंगे बल्कि हमीरपुर की लड़कियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी और क्रैक करने के लिए एक मंच प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार के डीएचई के साथ सांझेदारी करके खुश हैं और उनके साथ मिलकर काम करने के लिए तत्पर हैं।

हिमाचल के प्रतिभाशाली छात्रों को मिलेेंगे नए अवसर : डीसी

वहीं हमीरपुर की डीसी देबश्वेता बानिक ने कहा कि आज के युग और समय में सीखने के तौर-तरीकों को बदलने के लिए टैक्नोलॉजी एक शक्तिशाली माध्यम है। अनएकैडमी के साथ यह जुड़ाव देश के प्रतिष्ठित शिक्षकों के साथ शिक्षार्थियों के संबंधों को और मजबूत बनाएगा और इसके साथ ही हिमाचल के प्रतिभाशाली छात्रों को प्रवेश और प्रतियोगी परीक्षाओं को पास करने के लिए नए अवसर उपलब्ध कराएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।