ऊना की सड़कें जल्द होंगी लावारिस पशु मुक्तः वीरेंद्र कंवर
July 20th, 2019 | Post by :- | 146 Views

लावारिस पशु पकड़ने को अगस्त माह में विशेष अभियान चलाने के दिए निर्देश
ऊना (20 जुलाई)- ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, पशु तथा मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा है कि जिला ऊना की सड़कें जल्द ही लावारिस पशुओं के आंतक से मुक्त हो जाएंगी। थाना कलां में आज विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ एक बैठक के दौरान वीरेंद्र कंवर ने लावारिस पशुओं को पकड़ने के लिए अगस्त महीने के पहले सप्ताह में विशेष भियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सबसे पहले सड़क पर घूमने वाले बैल पकड़े जाएं ताकि लोगों को इनके आतंक से छुटकारा मिल सके। उन्होंने कहा कि यह अभियान पंचायती राज विभाग तथा पशु पालन विभाग के संयुक्त तत्वाधान में चलाया जाएगा और इसके लिए धन का प्रावधान ज़िला प्रशासन की ओर से किया जाएगा।
पशु पालन विभाग करेगा हॉट स्पॉट की पहचान
बैठक में वीरेंद्र कंवर ने कहा कि पशु पालन विभाग हॉट स्पॉट की पहचान करेगा ताकि उन जगहों की पहचाना जा सके, जहां पर लावारिस बैल अकसर दिखाई देते हैं। इसके बाद इन बैलों व अन्य पशुओं को पकड़ कर जिला में पंचायतों द्वारा संचालित गौ सदनों में भेजा जाएगा और वहीं पर इन्हें रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि कई बार हिंसक भी हो जाते हैं, जिसे देखते हुए ट्रैंकुलाइज़र गन का इस्तेमाल भी किया जाएगा ताकि लावारिस बैलों को बेहोश करके गौशालाओं में ले जा सके और किसी कर्मचारी को किसी भी प्रकार का नुकसान न पहुंचे।
जल्द सक्रिय रूप से चलेंगी 8 गौशालाएं
ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि लावारिस पशुओं की वजह से किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचता है तथा सड़क पर दुर्घटनाएं भी होती हैं। ऐसे में पशुओं को सड़क से हटाने के बाद यह समस्याएं दूर हो जाएंगी। उन्होंने बताया कि जिला में 10 गौशालाएं सक्रिय रूप से काम कर रही हैं तथा जल्द ही 8 और गौशालाओं को चलाने की व्यवस्था कर ली जाएगी। इनके सुचारू रूप से संचालित होने बाद लगभग 1500 लावारिस पशुओं को रखने की व्यवस्था हो जाएगी।
गौशालाओं को संचालन को सरकार दे रही आर्थिक मदद
बैठक में वीरेंद्र कंवर ने कहा कि गौशालाओं के संचालने के लिए पांच सदस्यों की सोसाइटी का गठन किया जाता है, जिनमें दो सरकारी सदस्य होने चाहिए। गौशालाओं के संचालन के लिए सोसाइटियों को प्रदेश सरकार की ओर से हरसंभव मदद दी जाती है। बिल प्रस्तुत करने पर गौ रक्षा राशि के माध्यम से चारे के लिए 50 प्रतिशत की आर्थिक मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बड़ी गौशालाओं में बैलों को रखने के लिए नंदीशाला बनाने को भी प्रदेश सरकार मदद देती है। जिन गौशालाओं के पास पर्याप्त भूमि है, वह इस दिशा में काम करें।
ये रहे उपस्थित
इस बैठक में जिला पंचायत अधिकारी रमन कुमार शर्मा, बीडीओ सोनू गोयल, वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. सतिंदर ठाकुर, एसडीओ बिजली विभाग राहुल पुरी, एसडीओ आईपीएच हरभजन सिंह, प्रिंसीपल डाइट देवेंद्र चौहान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
वीरेंद्र कंवर ने सुनी जन समस्याएं
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने आईपीएच विश्राम गृह में जन समस्याओं का निपटारा भी किया। उन्होंने अधिकारियों को लोगों की समस्याएं दूर करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। इस अवसर पर कुटलैहड़ भाजपा महामंत्री कैप्टन प्रीतम डढवाल, जिला भाजपा सचिव सतीश धीमान सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।