जल जीवन मिशन के तहत 7.70 करोड़ से पनोल अमरपुर उठाऊ पेयजल योजना का निर्माण कार्य प्रगति पर – राजिन्द्र गर्ग … #news4
January 22nd, 2022 | Post by :- | 110 Views

बिलासपुर 22 जनवरी:- 7 करोड़ 70 लाख रुपये से पनोल अमरपुर उठाऊ पेयजल योजना का निर्माण कार्य प्रगति पर है। यह जानकारी खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने गांव पनोल में लोगों की समस्याएं को सुनते हुए दी। उन्होंने अधिकतर समस्याओं का मौके पर ही निपटारा किया।
उन्होंने बताया कि पनोल अमरपुर उठाऊ पेयजल योजना से ग्राम पंचायत पनोल तथा अमरपुर के लोगों को पेयजल की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस पेयजल को माह मार्च तक पूर्ण कर लिया जाएगा ताकि लोगों की पानी की समस्या का समाधान हो सके। उन्होंने बताया कि खरला में चार ईंच का बोरवेल का सर्वेक्षण करवाया गया है जिससे गांव खरला और कुरलाग के लोगों की पेयजल की समस्या को दूर किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि पनोल पंचायत की कम वोल्टेज की समस्या का जल्द समाधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सभी क्षेत्रों में एक सम्मान विकास कर रही है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र घुमारवीं में 83 करोड़ रुपये जल जीवन मिशन के अंतर्गत खर्च किया जा रहा है ताकि लोगों की पेयजल समस्या का समाधान किया जा सके।
उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत 53 करोड़ की राशि से घुमारवीं की पेयजल योजना का काम जोरों से चल रहा है। इस पेयजल योजना में मेहरन तथा लदरौर में पेयजल टैंकों का निर्माण कार्य प्रगति है। इस पेयजल योजना से अनेक पेयजल योजनाओं को पेयजल उपलब्ध करवाया जाएगा। जल जीवन मिशन के अंतर्गत सरकार द्वारा जून 2022 तक हर घर में नल से जल उपलब्ध करवाया जाएगा। सरकार का लक्ष्य है कि कोई भी घर बिना नल के न रहे और कोई नल बिना पानी के न रहे।
प्रदेश सरकार द्वारा 65 से 69 वर्ष की पात्र महिलाओं को एक हजार रुपये की सामाजिक सुरक्षा पेंशन बिना किसी आय सीमा के प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए अनेक कदम उठा रही है। आईआरडीपी के परिवारों की बेटियों की शादी के लिए मुख्यमंत्री शगुन योजना से 31 हजार रूपये और मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में 51 हजार रूपये प्रदान किए जा रहे हैं। बेटी है अनमोल कार्यक्रम में जन्म से ही बेटियों के नाम जो एफडी पहले 12 हजार रूपये थी उसे अब बढ़ाकर 21 हजार रूपये का कर दिया गया है।
उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार का गठन होते ही प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा पहली केबिनेट बुजुर्गों को समर्पित करते हुए सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लिए बुजुर्गों की आयु सीमा 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष कर दी और पेंशन राशि को भी 750 रुपये से बढ़ाकर 1500 रुपये किया गया जिससे लाखों बुजुर्ग लाभान्वित हुए।
इस अवसर पर भाजपा मंडल अध्यक्ष सुरेश ठाकुर, कैप्टन रणजीत सिंह, दिलीप कुमार, रमेश वर्मा, उप प्रधान राजकुमार, महिला मोर्चा सचिव सरोज, अधिशाषी अभियंता जल शक्ति अरविंद वर्मा, एसडीओ लोक निर्माण मनोहर, अधिवक्ता अनिल कुमार, सहित अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।
.0.

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।