सम्बन्धों की अहमियत को समझें #news4
October 30th, 2022 | Post by :- | 91 Views

भौतिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए दिन-रात पैसे के पीछे भागने वाला आज का युवा अपने रिश्तों को अच्छी तरह से सम्भाल नहीं पा रहा है। गाह-बगाहे बेटे-बेटियों का अपने परिजनों से अलग होने का समाचार सुनाई दे जाता है। ऐसा नहीं है कि युवा अपने रिश्तों को मजबूती और प्रेम से निभाना नहीं चाहते हैं लेकिन कहीं-न-कहीं कुछ ऐसी बातें हो जाती हैं जिनके चलते उन्हें अपनी राह अलग करनी पड़ती है। मजबूत रिश्ते आपके जीवन को बहुत अच्छा बना सकते हैं, क्योंकि यह आप के मन और मस्तिष्क को बेहतर बनाते हैं, लेकिन किसी कारणवश अगर यह रिश्ता नहीं चल पा रहा तो निराश न हों और प्रयास करें मिल बैठकर समस्या के समाधान को ढूँढऩे। दरअसल, रिलेशनशिप एक इनवैस्टमेंट है, इस में आप जितना अपना प्रयास डालेंगे, उतना ही आपको वापस मिलेगा।
इस बात को समझें कि पति पत्नी का संबंध बहुत कीमती होता है, उसे बनाए रखने के लिए आपसी बातचीत बहुत जरूरी है, घर में खुला वातावरण रखें, जहाँ हर कोई अपनी बात एक दूसरे से शेयर कर सके। भावनाओं से तथ्यों को अलग रखें, मसलन अगर कोई समस्या है तो उस में भावनाओं को ना आने दें, इस से सही निर्णय लेना मुश्किल होता है, पारदर्शिता और स्पष्टता से किसी भी समस्या का हल निकल सकता है।
कई बार आप का दिल कुछ और दिमाग कुछ और कहता है, ऐसे में आप कोई ऐसा निर्णय ले लेते हैं जिस का पछतावा बाद में होता है, इसलिए कुछ भी कहने से पहले अपने दिल और दिमाग की बात सुनें और उसका विश्लेषण करें, अगर फिर भी समझ में ना आए तो काउंसलर की सहायता लें। अपने आप को और पाटर्नर को समझने की कोशिश करें। इससे आप सही फैसला ले सकते हैं।
कई बार व्यक्ति मन में यह सोच लेता है कि उस का साथी उसे प्यार नहीं करता, ऐसी स्थिति में उसमें खामियाँ ही दिखने लगती हैं। ऐसा ना करके आप अच्छे माहौल में उससे बातचीत कर इसका उत्तर पा सकते हैं। बिना जाहिर किए भी प्यार हो सकता है, जिसे समझना मुश्किल है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।