पति-पत्नी की लड़ाई में अनोखा फैसला, कोर्ट ने कहा ससुराल जाएं खीर-पूड़ी खाएं… #news4
February 28th, 2022 | Post by :- | 217 Views

एक परिवार को टूटने से बचाने के लिए मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले की हाईकोर्ट का अनोखा फैसला चर्चा में बना हुआ है। यहां एक महिला ने पति से विवाद के बाद अपने 2 साल के बेटे को वापस लेने के लिए हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका लगाई थी। बाद में कोर्ट ने टूटते परिवार को सहारा देते हुए पति को एक महीने तक ससुराल में ही रहने का आदेश दे दिया।
खबरों के अनुसार, मामला ग्वालियर के सेवा नगर का है। यहां रहने वाली एक महिला ने अपने 2 साल के बेटे को वापस लेने के लिए हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दाखिल की थी। महिला का कहना था कि पति की प्रताड़ना से तंग आकर उसे ससुराल छोड़ना पड़ा था।

बाद में ग्वालियर हाईकोर्ट की एकल पीठ ने एक टूटते परिवार को सहारा देते हुए अनोखा फैसला सुना दिया। कोर्ट ने परिवार को टूटने से बचाने के लिए पहल करते हुए पति को एक माह तक ससुराल में रहने का आदेश दे दिया और कहा कि ससुराल पहुंचिए और खीर-पूड़ी खाएं। कोर्ट ने अपने आदेश में ससुराल वालों को भी कहा कि जमाई से ठीक से पेश आएं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।