स्कूलों में पकड़ी वैक्सीनेशन अभियान ने रफ्तार, बच्चे दे रहे वैक्सीनेशन करवाने का संदेश #news4
January 4th, 2022 | Post by :- | 112 Views

ऊना  : 15 से 18 आयु वर्ग तक के नवयुवकों की वैक्सीनेशन अभियान के दूसरे दिन जिला भर में 58 केंद्र स्थापित करते हुए टीकाकरण अभियान छेड़ा गया। हालांकि इससे पहले सोमवार को पहले दिन 41 केंद्रों पर 7800 से ज्यादा छात्र छात्राओं को विभिन्न शिक्षण संस्थानों में जाकर वैक्सीनेट किया गया। वैक्सीनेशन के प्रति 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग तक के छात्र-छात्राओं और नव युवाओं में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। वहीं दूसरी तरफ ऑनलाइन पंजीकरण के साथ-साथ स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा के चलते भी यह अभियान गति पकड़ता जा रहा है।

कोविड-19 की वैक्सीनेशन के दूसरे चरण के बडे़ अभियान में शिक्षण संस्थान में पढ़ने वाले 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग तक के छात्र छात्राओं को सुरक्षा कवच प्रदान किया जा रहा है। वैक्सीनेशन के तहत शिक्षण संस्थानों में पहुंचकर टीमें बच्चों को टीके लगा रही हैं। जिला में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग तक के करीब 33400 नव युवाओं को टीकाकरण से लाभान्वित करना है। जिसके लिए 3 जनवरी से 15 जनवरी तक इस लक्ष्य को हासिल किया जाएगा। हालांकि सोमवार को पहले दिन करीब 7800 से अधिक बच्चे इसमें कवर किए जा चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ मंगलवार को सोमवार की तुलना में केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई। मंगलवार को 58 केंद्र स्थापित करते हुए वैक्सीनेशन अभियान छेड़ा गया।

इस अभियान के तहत सरकारी के साथ-साथ निजी स्कूलों में भी बच्चों को कवर किया जा रहा है। जिला मुख्यालय के नजदीकी अप्पर अरनियाला स्थित स्कॉलर्स यूनिफाइड स्कूल के प्रधानाचार्य धीरज शर्मा ने बच्चों की वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग का आभार व्यक्त किया। वहीं डीएवी स्कूल के प्रधानाचार्य अतुल महाजन ने कहा कि बच्चो को वैक्सीनेट के लिए स्कूल प्रबंधन द्वारा अविभावकों की कॉन्सलिंग भी की गई थी जिसके बाद बच्चो के साथ साथ अविभावकों में भी वैक्सीनेशन लेकर को खासा उत्साह है।  वहीं टीकाकरण को लेकर जहां छात्र खासे उत्साहित दिए वहीं छात्र 15 से 18 आयु वर्ग के अन्य किशोरों को भी वैक्सीन लगवाने का संदेश देते नजर आये।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।