ऊपरी शिमला जाने वाले वाहन ढली चौक से लौटाए #news4
February 26th, 2022 | Post by :- | 331 Views

ठियोग : ऊपरी शिमला में शुक्रवार से हो रहे हिमपात के कारण गत दिवस से प्रभावित यातायात व्यवस्था को सुचारू करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से उठाए गए कदम धरातल पर दिखने लगे हैं। यहां पर ऊपरी शिमला के रामपुर, ठियोग, नारकंडा, रोहडू और चौपाल की ओर जाने वाले छोटे वाहनों को ढली चौक पर पुलिस कर्मी जांच के बाद ही अति आवश्यक होने पर ही आगे जाने की इजाजत दे रहे थे। जबकि हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की बसें व बड़े वाहन वाया बसंतपुर होकर जा रहे हैं। ढली चौक पर पुलिस कर्मियों ने कुफरी की ओर जाने वाले पर्यटकों की गाड़ियों को चौक से ही वापस भेजने का सिलसिला जारी रखा।

हिमपात में वाहनों के फंसने की स्थिति से बचने के लिए पुलिस की ओर से उठाए जा रहे कदम की स्थानीय लोग भी प्रशंसा कर रहे हैं, जबकि पर्यटकों में कुफरी न जाने की निराशा साफ झलक रही थी। मशोबरा और छराबड़ा वाले दोराहे पर एक बार वाहनों की जांच के लिए पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं। फागू और गलू के बीच फिसलन के कारण वाहनों की रफ्तार बहुत धीमी थी। वहीं रास्ते में बीच-बीच में बर्फ में वाहनों के फंसने से जाम की स्थिति बनती रही। कुछ लोग इस दौरान पैदल चलकर ही गंतव्य स्थानों की निकलते नजर आए। सुबह से ही कुफरी और फागू के बीच राष्ट्रीय राजमार्ग पर रेत और बजरी डाल कर बर्फ की फिसलन को कम करने का काम जारी था। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की मशीनरी सड़क से बर्फ हटाने का काम करती रही। प्रशासन की ओर से किए प्रबंधों के कारण जाम की स्थिति भी नहीं बनी। लंबीधार के समीप फंसा ट्रक

कुफरी-फागू के बीच में लंबीधार के समीप चढ़ाई पर फिसलन के कारण सुबह के समय ट्रक सड़क पर फंस गया। इससे आते-जाते वाहन जाम में फंसते रहे। इससे वाहन चालकों को बर्फ में वाहन चलाने में भी दिक्कत हुई। हिमपात के दौरान फागू और कुफरी के बीच की सड़क पर वाहनों के स्किड होने की अधिक संभावना रहती है। सड़क पर फिसलन न हो इसके लिए रेत डाली जा रही है। वहीं मशीनरी के माध्यम से सड़क मार्ग से बर्फ हटाने का काम भी जारी है। लोगों की सुविधा के लिए सड़क पर वाहनों की आवाजाही बहाल रखने के लिए विभाग हरसंभव प्रयास कर रहा है।

– बीके गोयल, एसडीओ राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।