विक्रमादित्य बोले- हिमाचल के ‘एक्सीडेंटल’ सीएम लोगों की उम्मीदों पर नहीं उतरे खरे #news4
August 7th, 2022 | Post by :- | 81 Views

नाहन :  जयराम ठाकुर ‘एक्सीडेंटल’ सीएम बने हैं। जब जयराम सीएम बने, तो प्रदेश की जनता को उनसे कई उम्मीदें थीं, मगर वह प्रदेश के लोगों की उम्मीदों को पूरा नहीं कर सके।

यह बात पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के सराहां में रोजगार संघर्ष यात्रा की जनसभा को संबोधित करते हुए शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कही।

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि वह पहले भी कई बार व्यक्तिगत रूप से कह चुके हैं कि जयराम ठाकुर शरीफ व ईमानदार आदमी हैं, मगर वह सरकार चलाने में लाचार ही साबित रहे हैं। क्योंकि बागडोर नागपुर और दिल्ली में रही। जयराम ठाकुर साढ़े चार वर्ष में अधिकारियों पर नकेल नहीं कस पाए। जब वह अधिकारियों से कोई काम नहीं करवा पाते थे, तो उन अधिकारियों को बदल दिया जाता था। साढ़े चार वर्ष में जयराम ठाकुर ने सात मुख्य सचिव तथा तीन डीजीपी बदले हैं। अधिकारियों पर पकड़ न होने के चलते एक दिन में कई-कई बार निर्णय बदले गए।

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि आप नाटी डालें, खिचड़ी खाएं, हमें कोई आपत्ति नहीं मगर प्रदेश को विकास की ओर ले जाएं। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने जो विकास कार्य शुरू किए थे, उन्हें पूरा करने के लिए धन भी भाजपा सरकार नहीं दे पाई।

हर वर्ष दिए जाएंगे 10 करोड़ रुपये

कांग्रेस सरकार बनने पर युवाओं के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र को प्रत्येक वर्ष 10 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। जो कि युवाओं को बिना ब्याज के उपलब्ध करवाए जाएंगे। कांग्रेस सरकार आगामी पांच वर्षों में निजी तथा सरकारी क्षेत्र में पांच लाख युवाओं को रोजगार देगी। जम्मू-कश्मीर की तरह हिमाचल में सेब के ए व बी ग्रेड का समर्थन मूल्य सरकार घोषित करेगी।

एक-एक सीट जीतना जरूरी

विक्रमादित्य सिंह ने कार्यकर्ताओं को कहा कि आपसी मतभेद भुलाकर एक-एक सीट का जितना आवश्यक है, ताकि सरकार बन सके। यदि हम एक सीट भी हारे तो सरकार नहीं बन सकती। तो अगले पांच सालों तक फिर संघर्ष करते रह जाएंगे। जब तक एकजुट नहीं होंगे, सरकार नहीं बन सकती।

कार्यकर्ता हमेशा कार्यकर्ता रहता है, मुख्यमंत्री पूर्व हो जाते हैं

सराहां के जंजघर में जनसभा को संबोधित करते हुए विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि संगठन का कार्यकर्ता कभी भी पूर्व नहीं होता है। कार्यकर्ता हमेशा कार्यकर्ता ही रहता है। मुख्यमंत्री व मंत्री पूर्व हो जाते हैं। कार्यकर्ता संगठन की रीढ़ होते हैं तथा इन्हीं कार्यकर्ताओं के दम पर सरकारें बनती और चलती है।

विक्रमादित्य सिंह ने की हिमाचली मीडिया की तारीफ

सराहां में विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि हिमाचली मीडिया की छवि देश के अन्य राज्यों से बेहतर है। हिमाचल का मीडिया सच को सच और झूठ का पर्दाफाश करता है। अभी हिमाचल का मीडिया, देश के गोदी मीडिया से बचा हुआ है। मीडिया सरकार की कमियों तथा विपक्ष की आवाज को सच्चाई तथा निष्ठापूर्वक उठा रहा है। इसके लिए हिमाचल मीडिया बधाई का पात्र है।

रैली में दयाल प्यारी व जीआर मुसाफिर गुट ने लगाए अलग-अलग नारे

नाहन विधानसभा क्षेत्र में शनिवार को रोजगार संघर्ष यात्रा में हुई झड़प, मारपीट व बहस के बाद सराहां में भी कांग्रेस पार्टी में गुटबाजी देखने को मिली। यहां पर दयाल प्यारी कश्यप व गंगूराम मुसाफिर गुट के कार्यकर्ताओं ने अलग-अलग नारेबाजी कर गुटबाजी का एक बार खुलकर प्रदर्शन किया। इससे पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह के राजगढ़ दौरे के दौरान दयाल प्यारी गुट ने दीदग में स्वागत किया तथा जीआर मुसाफिर ने राजगढ़ में प्रतिभा सिंह का स्वागत किया था। इस पर सांसद ने सभी को एकजुट होने की नसीहत दी थी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।