ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने किया गऊशालाओं का औचक निरीक्षण।
May 26th, 2019 | Post by :- | 120 Views

रविवार को ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर इंदौरा के बाईं अटारियां पहुंचे व यहां श्रीबद्रीविशाल मंदिर के निकट चल रही गऊशाला का औचक निरीक्षण किया व व्यवस्थाओं का जायजा लिया। यहां पत्रकारों से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं की समस्या से लोगों को निजात दिलाने के लिए सरकार प्रयास कर रही है और इसके लिए गऊशालाओं के विस्तारीकरण पर कार्य चल रहा है।
उन्होंने कहा कि बाईं अटारियां स्थित गऊशाला का विस्तार कर वहां 1 हजार गौधन को रखने की व्यवस्था की जाएगी, जिससे किसानों को आवारा पशुओं द्वारा हो रहे फसलों के नुक्सान की समस्या से तो निजात मिलेगी ही साथ ही आवारा पशुओं के कारण हो रही सड़क दुर्घटनाओं में भी निश्चित रूप से कमी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि शीघ्र ही विभागीय टीम यहां भेजकर श्रीबद्रीविशाल मंदिर की भूमि की पैमाइश करवाकर उसकी तारबंदी की जाएगी।

इसके बाद उन्होंने ठाकुर राम गोपाल मंदिर की भूमि पर चल रही गऊशाला का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि इंदौरा का यह क्षेत्र पंजाब से सटा हुआ है और यहां हरे चारे, तूड़ी व पानी की कोई दिक्कत नहीं है जिसके कारण उक्त गऊशालाओं में गौधन संवर्द्धन करना मुश्किल नहीं होगा। इसके अतिरिक्त उन्होंने ठाकुर रामगोपाल मंदिर से भदरोया जाने वाले रास्ते के बाईं ओर मंदिर की भूमि पर गौ अभ्यारण्य बनाए जाने की बात कही व मौके पर ही एस.डी.एम. इंदौरा गौरव महाजन को 10 दिन के अंदर उक्त भूमि का विवरण व अनुमानित आकलन कर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वह 10 दिन बाद पुन: यहां आकर इसकी रिपोर्ट लेंगे।

इससे पहले नंगल पहुंचने पर स्थानीय विधायक रीता धीमान के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने मंत्री का भव्य स्वागत किया। इस अवसर पर गगरेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक राजेश ठाकुर भी उनके साथ उपस्थित थे। मंत्री ने विधायक राजेश ठाकुर के बाईं अटारियां स्थित गऊशाला में गौधन संवद्र्धन व उनके रखरखाव के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।