Weather Update : बर्फ से ढंकी कश्मीर घाटी, द्रास में पारा शून्‍य से नीचे, बारिश की चेतावनी #news4
December 30th, 2021 | Post by :- | 71 Views

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में गुलमर्ग को छोड़कर समूचे कश्मीर घाटी, लद्दाख तथा श्रीनगर में गुरुवार को न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस दौरान दुनिया के दूसरे सबसे ठंडे स्थान के रूप में द्रास को चिह्नित किया गया, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 21.9 डिग्री सेल्सियस रहा।
मौसम विभाग के अनुसार जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में मौसम शुष्क रहने का अनुमान है, हालांकि चार से छह जनवरी के बीच यहां भारी बर्फबारी और मध्यम बरसात हो सकती है। दो जनवरी तक रात के तापमान में और गिरावट आने के आसार हैं। जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में न्यूनतम तापमान बुधवार रात की तुलना में शून्य से नीचे 1.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

विश्व प्रसिद्ध स्की रिसॉर्ट गुलमर्ग में आज न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 9.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो बुधवार को शून्य से नीचे 10.4 डिग्री सेल्सियस था। श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर काजीगुंड का न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 4.2 डिग्री सेल्सियस रहा जो बुधवार रात को शून्य से नीचे 0.6 डिग्री सेल्सियस था।

मौसम विभाग ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के प्रसिद्ध रिसॉर्ट पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 8.9 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि बुधवार को यहां तापमान शून्य से 6.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था। इसी अवधि में दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 3.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जहां बुधवार को तापमान शून्य से नीचे 0.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था।

कश्मीर के सीमावर्ती जिले कुपवाड़ा में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो बुधवार रात को शून्य से नीचे 3.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में लेह का न्यूनतम तापमान गुरुवार को शून्य से नीचे 16 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा, जो बुधवार को शून्य से 14.7 डिग्री सेल्सियस था, वहीं कारगिल में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 14.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।(वार्ता)

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।