बुध का वक्री गोचर : 12 राशियों पर क्या होगा असर? #news4
September 10th, 2022 | Post by :- | 53 Views
10 सितंबर 2022 से बुध ग्रह कन्या राशि में वक्री गोचर कर रहा है जो 2 अक्टूबर 2022 को पुन: मार्गी होगा और इसके बाद 26 अक्टूबर 2022 को तुला में गोचर कर जाएगा। बुध की वक्री चाल से सभी 12 राशियों पर शुभ या अशुभ प्रभाव देखने को मिलेगा। आओ जानते हैं कि क्या होगा 12 राशियों पर इसका असर।
मेष राशि : आपकी राशि के छठे भाव में बुध का वक्री गोचर हो रहा है। इसके गोचर के चलते आपको शत्रुओं से सतर्क रहने की जरूरत है। सेहत की ध्यान भी रखना होगा। संबंधों को लेकर भी आप परेशानी में रहेंगे। नौकरी बदलने के फैसला अभी त्याग दें। व्यापार में वृद्धि के योग हैं।
वृषभ राशि : आपकी राशि के पांचवें भाव में बुध की वक्री चाल मिले-जुले परिणाम देगी। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी लेकिन धन का निवेश करते वक्त सावधानी रखें, नुकसान उठाना पड़ सकता है। हालांकि संबंधों में सुधार होगा। संतान सुख के योग हैं। शिक्षक और विद्यार्थियों के लिए शुभ समय है।
मिथुन राशि : आपकी राशि के चौथे भाव में बुध का वक्री गोचर शुभ रहेगा। परिवार के सदस्यों से मधुर संबंध बनेंगे। सुख-सुविधाओं का विस्तार होगा। यात्रा का प्लान बनेगा। हालांकि कार्यक्षेत्र में थोड़ी बहुत अड़चन देखने को मिल सकती है। इसलिए धैर्य रखें और शांत होकर ही हर कार्य करें। व्यापार में लाभ होगा।
कर्क राशि : आपकी राशि के तीसरे भाव में बुध का वक्री गोचर मिलेजुले असर वाला होगा। आपको अपनी वाणी पर संयम रखने की जरूरत है। व्यापार में सोच समझकर आगे बढ़ें। नौकरीपेशा जातकों को शत्रुओं से भय रहेगा। परिवार में भी गलतफहमी की वजह से संबंध खराब होंगे। यात्रा के योग बन रहे हैं। लंबी यात्रा न करें।
सिंह राशि : आपकी राशि के दूसरे भाव में बुध की वक्री चाल मिलेजुले परिणाम देगी। परिवार के सदस्यों से मतभेद रहेंगे। अनावश्यक खर्चों के कारण आर्थिक हालात भी ठीक नहीं रहेंगे। व्यापारी सोच समझकर ही निवेश करें। नौकरीपेशा जातक सावधानी से रहें। वाणी पर संयम रखें। हालांकि छात्रों के लिए अनुकूल समय है।
कन्या राशि : आपकी राशि के प्रथम भाव में बुध की वक्र गति दांपत्य जीवन में तनाव पैदा कर सकती है। हालांकि कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी। आपकी छवि में सुधार होगा। शत्रुओं से सावधान रहें। छात्रों के लिए अनुकूल समय है।
तुला राशि : आपकी राशि के बारहवें भाव में बुध का वक्री होना मिले जुले परिणाम देगा। आपको अपनी वाणी और क्रोध पर कंट्रोल रखना होगा। नौकरी में सफलता मिलेगी। अटके कार्य पूर्ण होंगे। निजी जीवन में समझदारी से काम लें। व्यर्थ के खर्चों पर लगाम लगाकर रखें।
वृश्चिक राशि : आपकी राशि के ग्यारहवें भाव में बुध का वक्री होना शुभ है। घर परिवार में शांति और प्रसन्नता का माहौल रहेगा। आर्थिक हालात में सुधार होगा। अधूरे कार्य पूर्ण होंगे। व्यापारियों को मुनाफा मिलने की संभावना रहेगी। सेहत का प्रति सतर्क रहना होगा।
धनु राशि : आपकी राशि के दसवें भाव में बुध का वक्री गोचर कार्यक्षेत्र में प्रगति लेकर आ रहा है। नौकरीपेशा हैं तो कार्य की तारीफ होगी। व्यपारी हैं तो मुनाफा होगा। सभी अटके कार्य पूर्ण होंगे। घर-परिवार में प्रेम और विश्वास कायम होगा। वाणी पर संयम रखने की जरूरत है।
मकर राशि : आपकी राशि के नौवें भाव में बुध का वक्री गोचर शुभ फल देगा। भाग्य का साथ मिलेगा। कोर्ट-कचहरी के मामलों में सफलता मिलेगी। घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। अभी किसी भी प्रकार की यात्रा से बचना चाहिए। धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। करियर या नौकरी में सफलता मिलेगी। व्यापारियों को अच्छा धन लाभ करने का अवसर मिलेगा।
कुंभ राशि : आपकी राशि के आठवें भाव में बुध का गोचर वक्री मिलेजुले परिणाम देगा। आप थकान और दबाव महसूस करेंगे। किसी भी प्रकार के निवेश से बचना चाहिए। ऋण लेने से भी बचकर रहें। संबंधों को लेकर भी धैर्य और समझदारी से काम लें। कार्यक्षेत्र में भी संयम से काम लें। हालांकि छात्रों के लिए अनुकूल समय है।
मीन राशि : आपकी राशि के सातवें भाव में बुध का वक्री गोचर मिलेजुले परिणाम देगा। साझेदारी के व्यापार में सतर्क रहें। दांपत्य जीवन में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकते हैं। क्रोध और वाणी पर कंट्रोल रखें। हालांकि आर्धिक पक्ष मजबूत रहेगा। तनाव से मुक्त होने में सफल होंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।