जब देवानंद पर काले कपड़े पहनने पर लगा प्रतिबंध
December 3rd, 2019 | Post by :- | 147 Views

आज सदाबहार अभिनेता देवानंद की वरसी है ऐसे में उनके चाहने वालों के लिए उनकी कुछ यादें सांझा कर रहे हैं।
बात आपको सुनने में भले ही अजीब लग रही हो, लेकिन यही सच है। दरअसल, सदाबहार एक्टर देव आनंद अकसर सफ़ेद शर्ट के साथ काला कोट पहनते थे और उसमें वो क्या कमाल लगते थे। मतलब ब्लैक कोट में जो भी उन्हें देखता बस देखता ही रह जाता. वहीं लड़कियों के क्या कहने, काले कोट में देव साहब को देख कर उनकी दीवानगी देखने लायक होती थी।ऐसा पागलपन कि वो अपनी जान तक दांव पर लगा देती थी। धीरे-धीरे काला कोट देव आनंद के लिए परेशानी बनता जा रहा था, क्योंकि उन्हें उस कोट में देख कर लड़कियां छत से छलांग लगाने तक को तैयार थीं। मतलब ऐसी दीवानगी पहले देखी नहीं वाला आलम था। बस इसी समस्या का समाधान करने के लिए कोर्ट को बीच में दखल देना पड़ा।

इसी दौरान देव साहब की फ़िल्म ‘काला पानी’ रिलीज़ हुई और हिट भी, तभी कोर्ट की तरफ़ से आदेश जारी करते हुए देव साहब के ब्लैक कपड़े पहनने पर बैन लगा दिया
देव आनंद का पूरा नाम धरम देवत्त पिसोरीमल आनंद है। इनका जन्म 26 सितंबर 1923 में ब्रिटिश इंडिया के पंजाब के गुरदासपुर जिले की शकरगढ़ तहसील में हुआ था। इनका निधन 3 दिसंबर 2011 को हुआ था। देव आनंद के पिता पिसोरी लाल आनंद गुरदासपुर के जाने माने वकील थे। पांच भाई-बहनों में ये अपने पिता की तीसरी संतान थे। इन्हें मिलाकर चार भाई और एक सबसे छोटी बहन थी।

भाई चेतन आनंद के साथ मिलकर देव आनंद ने नवकेतन फिल्म्स की नींव 1949 में रखी। उनकी सदाबहार पर्सनोलिटी की वजह से उन्हें बॉलीवुड ने नाम दिया ‘एवरग्रीन देव।’ 1955-1965 तक दक्षिण के एम जी रामचंद्रन और बॉलीवुड के देव आनंद सबसे ज्यादा फीस लेने वाले अभिनेता थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।