सड़क पर भगवान दिखे तो रमेश को उठाने आये यमराज को खाली हाथ लौटना पड़ा ….
September 26th, 2019 | Post by :- | 303 Views

सड़क पर भगवान दिखे तो रमेश को उठाने आये यमराज को खाली हाथ लौटना पड़ा। छोटा शिमला में यह वाकया तब घटा जब पी डब्ल्यू डी में काम करने वाला रमेश अपने गांव मशोबरा लौट रहा था तो बस में उसे बेचेनी महसूस हुई और वो छोटा शिमला में बस से उतर गया। उतरते ही वो फुटपाथ पर गिरकर बेहोश हो गया। आते जाते लोग उससे इधर उधर होकर निकलते रहे पर किसी ने न उसका हाल पूछा न किसी ने मदद के लिए 108 को कॉल की। इतने में यमराज अपने सिपाही लेकर छोटा शिमला रमेश को उठाने पहुंच गए। तभी वहां से IGMC के बॉस डॉ जनक राज किसी काम के सिलसिले में सेक्टरेट के लिए निकले तो उनकी नज़र सड़क पर बेसुध पड़े रमेश पर पड़ी तो उन्होंने गाड़ी रुकवाकर उसे चेक किया।

उसकी हालत चिंताजनक थी। डॉ साहब ने बिना देरी किए सारे काम छोड़कर रमेश को अपनी गाड़ी से IGMC पहुंचाया ओर चिकित्सकों की टीम ने कड़ी मेहनत से रमेश को नई जिंदगी दी। मोत के फ़रिश्ते भगवान को देखकर खाली हाथ लौट गए। दो साल पहले ऐसे ही एक मामले में हिमाचल हाई कोर्ट के कार्यकारी चीफ जस्टिस संजय करोल साहब ने भी सड़क पर गिरे एक बेसुध व्यक्ति को अपनी गाड़ी में बिठाकर हॉस्पिटल पहुंचाया था और खुद पैदल हाई कोर्ट चल दिये थे।शिमला की सड़कों पर सच मे भगवान घूमते हैं। डॉ साहब मेरे मित्र है इसलिए उनकी तारीफ में कोई शब्द नहीं लिख रहा। पाठक खुद अंदाज़ा लगाएं कि भगवान है य नहीं? देवभूमि में भगवान नहीं होंगे तो कहां होंगे।

जय हिंद, जय हिमाचल
विनय शर्मा एडवोकेट
हिमाचल हाई कोर्ट शिमला
पूर्व डिप्टी एडवोकेट जनरल
हिमाचल सरकार
8894409800
9459258500

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।