बच्चा कब करना है यह पूरी तरह से आप पर निर्भर है, बस कुछ बातों का ध्यान रखें! #news4
December 21st, 2022 | Post by :- | 61 Views

पहले समाज युवाओं पर शादी करने का दबाव डालता है. एक बार जब वे शादी कर लेते हैं, तो उन पर बच्चे पैदा करने का दबाव डाला जाता है और ऐसे ही एक अंतहीन चक्र चलने लगता है. हमेशा कोई न कोई आपको बताता ही रहता है कि फलां काम करने का सही समय कब है? लेकिन जब बात आती है पैरेंटिंग की, तो अपने जीवन का स्टीयरिंग व्हील किसी और को देना काफ़ी ख़तरनाक साबित हो सकता है – आपके और आपके बच्चे दोनों के लिए. जब आप एक जीवन को दुनिया में लेकर आते हैं, तो उसका पालन-पोषण और उसकी रक्षा करना हमेशा के लिए आपकी ज़िम्मेदारी हो जाती है. आप बीच रास्ते से पीछे नहीं हट सकते हैं. और यदि आप पूरी तरह से अपनी ज़िम्मेदारी नहीं निभा पाते हैं तो यह आपकी कमी के रूप में गिना जाएगा. तो सुनिश्चित करें कि आप इसके लिए पूरी तरह से तैयार हों.

 

अपनी प्राथमिकताएं तय करें

जीवन के हर पड़ाव पर अलग-अलग लोगों की प्राथमिकताएं अलग-अलग होती हैं. कुछ लोग अपने करियर पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं और बाद में बच्चे पैदा करना चाहते हैं, और अन्य दूसरा रास्ता खोजते हैं. कुछ तो कभी बच्चे पैदा नहीं करना चाहते हैं. माता-पिता बनना बाक़ी सब चीज़ों की तरह ही एक व्यक्तिगत पसंद है, इसलिए इस तरह के फ़ैसले किसी तरह के दबाव में आकर ना करें. अपनी प्राथमिकताओं को जानें और बिना किसी संकोच के उनपर टिके रहें.

 

अपने वित्तिय स्थिति का आकलन करें

बच्चों का पालन-पोषण करना बहुत महंगा हो गया है. उनके खिलौनों से लेकर शिक्षा तक की हर छोटी से छोटी चीज़ का भुगतान आपकी ज़ेब से ही होगा. यदि आप आर्थिक रूप से स्थिर नहीं हैं, तो आप इसके लिए तैयार नहीं हैं. आख़िरकार, माता-पिता बनना बहुत ख़र्चिला होता है. यह भावनात्मक निर्णय होता है और इसमें डुबकी लगाने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपके पास पर्याप्त मात्रा में पैसे की बचत हो रही हो.

 

फ़र्टिलिटी टेस्ट कराएं

आपने अपने आसपास बहुतों को कहते हुए सुना होगा कि बच्चे अर्ली ऐज में हो जाएं तो काफ़ी अच्छा होता है, क्योंकि तब आप सबसे फ़र्टाइल होती हैं. हालांकि, सच्चाई यह है कि हर किसी की बायोलॉज़िकल क्लॉक अलग होती है और जब तक आप समय-समय पर आप अपनी प्रजनन क्षमता की जांच करवाते हैं और डॉक्टर आपको इस बात का आश्वासन देते हैं कि आप बाद में भी बच्चे पैदा कर सकती हैं, तो आप पैरेंट बनने के प्लैन को आगे कर सकती हैं.

 

अपने साथी से बात करें

वे कहेंगे कि बच्चे को पालने के लिए आपको किसी की मदद लगेगी ही, लेकिन सभी एक फुल टाइम हेल्पर एफ़ोर्ड नहीं कर सकते हैं. अब आप इसकी कल्पना करें आपको यह सब अकेले करना पड़ेगा! इसलिए ज़रूरी है कि आप और आपका पार्टनर दोनों पैरेंट बनने के लिए तैयार हों. यहां तक कि अगर एक साथी भावनात्मक, शारीरिक या आर्थिक रूप से कमतर महसूस करता है, तो यह आपके विवाह के लिए गंभीर चुनौतियां पैदा कर सकता है. तो सुनिश्चित करें कि आप दोनों एक जैसा ही सोचते हों.

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।