कहां जाएं हम लड़कियां, सिर्फ मां का गर्भ और कब्र ही सुरक्षित, सुसाइड नोट में जो लिख गई छात्रा, उसे पढ़कर शर्म से झुक जाएगा सिर! #news4
December 20th, 2021 | Post by :- | 186 Views

दुष्‍कर्म, हत्‍या, छेड़छाड़ और सड़क चलते छींटाकशी। ये इन दिनों आम बात है। किसी न किसी युवती को आए दिन इससे दो चार होना पड़ता है। लेकिन हाल में इससे परेशान होकर एक लड़की ने खुदखुशी कर ली। लेकिन मरने से पहले उसने अपने सुसाइड नोट में जो लिखा, उसे पढकर हर किसी का सिर शर्म से झुक जाएगा।

तमिलनाडु में 11वीं कक्षा की एक छात्रा ने कथित रूप से आठ माह तक शोषण तथा पीछा किए जाने का दंश झेला, और फिर जिंदगी से हार मान ली। मौका मिलते ही उसने अपनी जीवन लीला को समाप्‍त कर डाला, शनिवार को जब बच्ची की मां बाज़ार से लौटी, तो उन्होंने अपनी बिटिया को घर में लटका हुआ पाया।

सबसे ज्‍यादा दुखद और आत्‍मा को झकझौर देने वाली बात तो वह है जो उसने अपने सुइसाइड नोट में लिखा है,
लड़की सिर्फ अपनी मां के गर्भ में या कब्र में ही सुरक्षित है

उसके इस तरह के सुसाइड नोट से जाहिर होता है कि वो कितनी असहनीय पीड़ा और हताशा में थी। पूरा परिवार होने के बाद भी वो हिम्‍मत हार गई। उसके साथ होने वाले इस शोषण के बारे में घरवालों तक को पता नहीं था।

सुइसाइड नोट में परेशान करने वाले तीन लोगों के नामों के साथ उसने यह भी लिखा है,

यौन शोषण बंद करोमेरे लिए न्याय हासिल करो

इस मामले में चेन्नई में ही कॉलेज के एक छात्र को कथित यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार को दावा किया है कि युवक ने अपराध कबूल कर लिया है, और उसके खिलाफ POCSO के तहत केस दर्ज कर लिया गया है।

लड़की के सुइसाइड नोट के आधार पर पुलिस इस बात की तफ्तीश कर रही है कि कहीं इस युवक के अलावा कोई और भी तो लड़की को परेशान नहीं कर रहा था।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।