लक्षण हो या नहीं, मरकज से लौटे लोगों के होंगे कोरोना टेस्ट
April 3rd, 2020 | Post by :- | 245 Views

दिल्ली के निजामुद्दीन से तब्लीगी जमात की मरकज से लौट सभी लोगों के कोरोना वायरस संक्रमण के टेस्ट होंगे, चाहे उनमें इसके लक्षण हो या नहीं। शिमला में शुक्रवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में 15 मार्च के बाद हिमाचल आए तब्लीगी जमात के लोगों के संबंध में यह निर्णय लिया गया। इन लोगों के सैंपल लेकर उन्हें निगरानी में रखा जाएगा।

अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) आरडी धीमान ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि दिल्ली से आने वाले जमातियों का पूरा डाटा जुटाया जा रहा है। उनकी मोबाइल लोकेशन सहित अन्य तथ्यों को भी खंगाला जा रहा है। बद्दी और ऊना में इनके संपर्क में आने वालों का पता लगाया जा रहा है। सात लोगों को अस्पताल में क्वारंनटाइन में रखा गया है।

ऊना में तब्लीगी जमात के तीन कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आने वालों के सैंपल की जांच की गई है। जिले में अब दो दिन बाद घर-घर जाकर आशा वर्कर्स डाटा एकत्र करेंगी। इसमें वे बीपी, शुगर, सांस की बीमारी, दमा व अन्य रोगों के ब्योरे के साथ-साथ ट्रेवल हिस्ट्री के संबंध में जानकारी जुटाएंगी। प्रदेश में 5747 बिस्तर उपलब्ध हैं, जहां लोगों को क्वारंटाइन किया जा सकता है। अस्पतालों में आपातकालीन स्थिति में आने वाले मरीजों के ऑपरेशन होंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।