जी.एस.टी. व नोटबंदी के बाद स्विस बैंकों में काले धन की 50 प्रतिशत वृद्धि पर सरकार खामोश क्यों : अभिषेक
September 13th, 2019 | Post by :- | 396 Views

स्विस बैंक में भारतीयोंं के पैसों में 50 प्रतिशत की बढ़ौतरी पर हिमाचल कांग्रेस सोशल मीडिया एवं आई.टी. विभाग के प्रमुख अभिषेक राणा ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि नोटबंदी व जी.एस.टी. से काले धन पर अंकुश लगने का दावा करने वाली मोदी सरकार बताए कि ऐसे हालात कैसे बन गए। स्विस नेशनल बैंक की रिपोर्ट ने इन आंकड़ों को उजागर करने के बाद स्वीडन सरकार ने भी भारत से द्विपक्षीय रिश्ते खत्म करने का इशारा किया है, जोकि बेहद शर्मनाक बात है। जारी प्रेस विज्ञप्ति में अभिषेक राणा ने कहा कि इन हालातों के लिए जिम्मेदार सरकार को देश के हर नागरिक के सामने सच्चाई लानी चाहिए, न कि मुद्दों को भटकाने के हथकंडे अपनाने चाहिए। उन्होंने कहा कि देश की जनता से राष्ट्रवाद पर इमोशनल ब्लेकमेलिंग करने वाली मोदी सरकार बताए कि निजी सेक्टर में लाखों लोग बेरोजगार कैसे हो रहे हैं। क्या युवाओं से रोजगार छीनना राष्ट्रवाद की श्रेणी में नहीं आता या फिर राष्ट्रवाद की परिभाषा स्पष्ट कर दे। उन्होंने कहा कि दिन प्रतिदिन बिगड़ती अर्थव्यवस्था ने देश को निचोड़ कर रख दिया है। प्रत्येक वर्ग पर इसकी मार पड़ी है लेकिन मोदी सरकार अब भी समाधान करने की बजाए खुद को पाक साफ करने में लगी हुई है। अभिषेक राणा ने कहा कि देश में पिछले 5 सालों में भ्रष्टाचार बढऩे के साथ महिलाओं के साथ हो रहे उत्पीडऩ के मामलों में बढ़ोतरी हुई है लेकिन सरकार कह रही है कि सब कुछ ठीक है। उन्होंने कहा कि 70 सालों में हालात इतने बदतर कभी नहीं हुए थे जितने मोदी सरकार में हुए हैं। लोगों ने सरकार को बहुमत इसी आस से दिया था कि देश के हालात और अधिक ठीक होंगे लेकिन इस सरकार में देश की अर्थव्यवस्था चौपट होने के साथ महंगाई में रिकार्ड तोड़ वृद्धि हुई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।