मंत्री वीरेंद्र कंवर से नहीं मांगूंगा माफी, घोटालों को तथ्यों के साथ कोर्ट में करूंगा पेश : रामलाल ठाकुर #news4
July 22nd, 2022 | Post by :- | 86 Views

बिलासपुर : पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं नयनादेवी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी के विधायक रामलाल ठाकुर ने प्रदेश के पंचायती राज, पशुपालन व मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर पर अपने विभाग में घोटाले करने का आरोप लगाया है। यही नहीं, उन्हें हिमाचल प्रदेश का लालू यादव तक कह डाला। इसके बाद कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर ने ऊना में प्रैसवार्ता कांग्रेस विधायक रामलाल ठाकुर को लीगल नोटिस भेजने की बात कही और 30 दिनों के अंदर माफी मांगने को कहा था। इस पर अब रामलाल ठाकुर ने भी जवाब देते हुए माफी मांगने से साफ इंकार कर दिया है, साथ ही चेतावनी दी है कि वह जल्द से जल्द उन्हें लीगल नोटिस भेजें, जिसके बाद वह उनके घोटालों को तथ्यों के साथ कोर्ट में पेश करेंगे। उन्होंने हाईकोर्ट में तथ्यों के साथ जल्द मुलाकात होने की बात कहते हुए खुद को पेशे से वकील बताते हुए हर बात नापतोल कर बोलने का दावा किया है।

बिलासपुर के सर्किट हाऊस में आयोजित प्रैसवार्ता में रामलाल ठाकुर नेकहा कि कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर ने बिलासपुर के लोगों के साथ बेईमानी की है और बिलासपुर में चल रही काफी पुरानी गऊशाला को ऊना में शिफ्ट कर अच्छी नस्ल की गऊओं को अपने रिश्तेदारों को कम कीमत में नीलाम कर उन्हें फायदा पहुंचाने का काम किया है। इसमें बड़े घोटाले की बू आ रही है क्योंकि उन्होंने इस गऊशाला को बिलासपुर के ही रघुनाथपुरा में शिफ्ट करने की मांग की थी लेकिन पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर जानबूझ कर गऊशाला काे बिलासपुर से उठा कर अपने विधानसभा में ले गए। रामलाल ठाकुर ने कहा कि गोबिद सागर झील व कोलडैम में मछली के बीज डालने के टैंडर भी मंत्री ने अपने रिश्तेदार को दिए। इन 4 वर्षों में इन बड़े जलाशयों में उत्पादन काफी घट गया है। उन्होंने कहा कि भाखड़ा, कंदरौर, ऋषिकेश सहित अन्य इलाकों में मछली हर समय उपलब्ध रहती थी लेकिन आज इन जगहों से मछली गायब हो गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।