हाईवे पर प्रवासी मजदूरों को ‘मुर्गा’ बनाने वाली महिला पुलिस कर्मी लाइन हाजिर
March 29th, 2020 | Post by :- | 198 Views

पैदल घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों पर अत्याचार कर उन्हें हाईवे पर मुर्गा बनाने के मामले में एसपी बिलासपुर ने कार्रवाई करते हुए नाका प्रभारी को तत्काल लाइन हाजिर कर दिया है। थाना प्रभारी बरमाणा को भी पूरे मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। एसपी ने जिले के सभी थाना प्रभारियों को आदेश जारी किए हैं कि उनके क्षेत्र में अगर इस प्रकार के कोई मामले सामने आते हैं तो उसकी पूरी जिम्मेवारी थाना प्रभारी की होगी और उन्हें तत्काल लाइन हाजिर किया जाएगा।
जानकारी के अनुसार शनिवार को बरमाणा में एसीसी गेट के सामने कुछ प्रवासी मजदूरों को मुर्गा बनाने वाली महिला पुलिस कर्मी को सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद एसपी बिलासपुर ने लाइन हाजिर कर दिया है। जैसे ही सोशल मीडिया पर प्रवासी मजदूरों को मुर्गा बनाने की पोस्ट अपडेट हुई उसके तुरंत बाद ही एसपी ने इस पर कड़ा संज्ञान ले लिया। एसपी ने महिला कर्मी को तत्काल लाइन हाजिर कर दिया है। जबकि थाना प्रभारी को इसकी रिपोर्ट देने को कहा गया है।

उल्लेखनीय है कि कर्फ्यू के चलते दूसरे राज्यों के कई प्रवासी मजदूर हिमाचल में फंसे हैं। वहीं उक्त प्रवासी सरकार के दिशा-निर्देशों के बाद भी पैदल ही अपने घरों की ओर निकल पड़े हैं। ऐसा ही एक मामला शनिवार को बिलासपुर के बरमाणा में सामने आया। जब कुछ प्रवासी मजदूर पैदल ही बरमाणा चौक से निकल रहे थे लेकिन चौक पर पुलिस ने नाका लगाया था।

नाके के दौरान बरमाणा थाना की महिला पुलिस कर्मी शबाना ने प्रवासी मजदूरों को रोका। इतना ही नहीं महिला कर्मी ने उन्हें बीच सड़क पर मुर्गा बनाया। इस सारे मामले को किसी व्यक्ति ने अपने फोन में रिकॉर्ड कर लिया। इसके बाद इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

थाना प्रभारी विरोचन नेगी ने बताया कि जैसे ही मामला एसपी बिलासपुर दिवाकर शर्मा के ध्यान में आया। उन्होंने महिला कर्मी को लाइन हाजिर कर दिया है। उन्होंने कहा कि एसपी ने साफ आदेश दिया है कि पुलिस के जवान इस तरह की कार्रवाई न करें जिससे किसी को परेशानी का सामना करना पड़े।

एसपी दिवाकर शर्मा ने बताया कि महिला कर्मी को तत्काल लाइन हाजिर कर दिया गया है। सभी थानों को आदेश जारी कर दिए गए हैं कि लेबर क्लास के साथ बर्बरता सहन नहीं होगी। इन लोगों को पुलिस खाना मुहैया करवाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।