ओवरलोडिंग की समस्या हल करने की दिशा में काम करें अधिकारीः डीसी
June 26th, 2019 | Post by :- | 132 Views

सड़क सुरक्षा पर आयोजित बैठक में उपायुक्त ने अधिकारियों को दिए निर्देश
ऊना – सड़क सुरक्षा पर आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने अधिकारियों को बसों में ओवरलोडिंग की समस्या का हल निकालने की दिशा में काम करने के निर्देश दिए। बैठक में डीसी ने कहा कि अधिकारी ओवरलोडिंग के कारण पता लगाएं और फिर उसका समाधान करें। उन्होंने कहा कि जिन रूट पर अतिरिक्त बसें चलाने की आवश्यकता है, वहां पर अतिरिक्त बसें लगाई जाएं और जहां पर समय सारिणी में बदलाव की जरूरत है, वहां पर समय बदला जाए, ताकि यात्रियों को किसी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि ओवरलोडिंग की अधिकतर समस्या छुट्टी वाले दिनों या फिर किसी त्यौहार या सामूहिक कार्यक्रम के दौरान आती है। उन्होंने कहा कि सिर्फ चालान काटना ही समस्या का समाधान नहीं है, बल्कि यात्रियों व बस ऑपरेटरों को जागरूक भी किया जाना चाहिए।
बैठक में डीसी ने सभी एसडीएम को ओवरलोडिंग पर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए और कहा कि वह खुद भी समय-समय पर बसों को रूट पर चैक करें। एचआरटीसी के अधिकारियों से उन्होंने कहा कि तंग सड़कों वाले रूट पर मैक्सी कैब (छोटी बस) चलाने की संभावना को भी तलाशें। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए लगातार प्रयास करने होंगे, तभी बदलाव संभव है। इस दौरान आरटीओ ऊना एमएल धीमान ने विभाग की ओर से किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।
नो हेलमेट-नो पेट्रोल अभियान शुरू होगा
उपायुक्त संदीप कुमार ने नो हेलमेट-नो पेट्रोल अभियान शुरू करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बिना हेलमेट के पेट्रोल भराने आने वाले बाइक सवारों को पेट्रोल पंप से पेट्रोल नहीं मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि दोपहिया वाहन सवारों को यह बताना आवश्यक है कि हेलमेट किसी भी दुर्घटना के समय उनकी जान बचाने में सहायक साबित हो सकता है।
बैठक में पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा, एडीसी अरिंदम चौधरी, एसडीएम अंब तोरुल एस रवीश, एसडीएम ऊना डॉ. सुरेश जसवाल, एसडीएम बंगाणा संजीव कुमार शर्मा, एसडीएम हरोली गौरव चौधरी, डीएसपी ऊना अशोक वर्मा, डीएसपी हरोली धन राज सिंह, आरटीओ एमएल धीमान, क्षेत्रीय प्रबंधक एचआरटीसी जगरनाथ सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।