मैन्युफैक्चरिंग यूनिट चीन से भारत शिफ्ट करना चाहती है ऐपल, ट्रंप ने कहा- अमेरिका से बाहर उत्पादन पर लगाएंगे टैक्स
May 15th, 2020 | Post by :- | 388 Views

कोरोना वायरस महामारी के बीच अमेरिका सहित कई देशों की कंपनियां मैन्युफैक्चरिंग यूनिट चीन से भारत शिफ्ट करना चाहती हैं। अमेरिकी कंपनी ऐपल ने भी अपने प्रोडक्शन यूनिट को चीन से भारत ले जाने की बात की है। लेकिन इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी दी है कि अमेरिका की बजाय भारत और आयरलैंड जैसे देशों में जाने वाली कंपनियों पर वह नया टैक्स लगा सकते हैं।

फॉक्स न्यूज के साथ एक इंटरव्यू में अमेरिकी राष्ट्रपति से ऐपल के भारत में प्रोडक्शन करने के प्लान को लेकर सवाल पूछा गया था। ट्रंप ने कि कंपनियों को टैक्स प्रोत्साहन दिया गया था, ताकि वे अपने मैन्युफैक्चरिंग कारोबार को वापस अमेरिका लाएं। न्यूयॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक ऐपल ने कहा है कि वह अपने उत्पादन का एक अहम हिस्सा चीन से भारत शिफ्ट करना चाहती है। चीन के वुहान से कोरोना वायरस फैलने के बाद वहां मैन्युफैक्चरिंग करने वाली कई टेक कंपनियों का सप्लाई चेन बाधित हुआ है।

उन्होंने कहा, ”एपल ने कहा है कि अब वे भारत जाने वाले हैं। वे चीन से हटकर कुछ उत्पादन भारत में करने जा रहे हैं। अगर वे करते हैं, तो आप समझ लीजिए कि हम एपल को थोड़ा सा झटका देंगे क्योंकि वे एक ऐसी कंपनी के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं, जो हमारे द्वारा किए गए व्यापार सौदे का हिस्सा थी। इसलिए यह एपल के लिए थोड़ा अनुचित है, लेकिन हम अब इसकी इजाजत नहीं देंगे। अगर हम दूसरे देशों की तरह अपनी सीमाओं को बंद कर लेंगे, तो एपल अपने शत प्रतिशत उत्पादों को अमेरिका में ही बनाएगी।”

ट्रंम ने कहा, ”इन कंपनियों को बात समझनी होगी, क्योंकि वे सिर्फ चीन नहीं जा रही हैं। आप देखिए वे कहां जा रही हैं… वे भारत जा रही हैं, वे आयरलैंड जा रही हैं और वे सभी जगह जा रही हैं, वे उन्हें बनाएंगी।”

क्या आपको नहीं लगता कि इन्हें प्रोत्साहन देने की जरूरत है? इसके जवाब में ट्रंप ने कहा, ”मुझे ऐसा करना है। एक प्रोत्साहन यह है कि जब वे अमेरिका से बाहर उत्पादन करेंगी तो उनपर टैक्स लगाया जाए। हमें उनके लिए अधिक कुछ करने की जरूरत नहीं है। उन्हें हमारे लिए करना है।” ट्रंप ने कहा कि वह मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को अमेरिका वापस लाना चाहते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।