हिमाचल : बर्फबारी के चलते चम्बा-चुवाड़ी वाया जोत सहित लाहौल-स्पीति में सभी मार्ग बंद #news4
December 30th, 2022 | Post by :- | 52 Views

शिमला : मौसम के करवट बदलते ही प्रदेश की चोटियों पर बर्फबारी का दौर जारी है। बर्फबारी के चलते प्रदेश में जहां तापमान में भारी गिरावट आई तो वहीं सड़क मार्ग भी अवरुद्ध हो गए हैं। बर्फबारी के चलते चम्बा-चुवाड़ी वाया जोत मार्ग बंद हो गया है। चम्बा जिला की चुराह घाटी में बर्फबारी जारी है। वहीं कुल्लू जिले की पयर्टन नगरी मनाली में नेहरूकुंड से आगे पलचान, धुंधी और गुलाबा और केलांग में बर्फबारी के चलते रोड बंद हैं। बीआरओ साऊथ पोर्टल एटीआर द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार धुंधी में हल्की बर्फबारी हो रही है और सड़क को साफ करने का काम चल रहा है, मौसम अनुकूल रहने पर सड़क को फोर वाई फोर वाहनों की आवाजाही के लिए 2 घंटे के भीतर खोला जा सकता है।

अटल टनल के साऊथ पोर्टल में डेढ़ फुट तक बर्फबारी
अटल टनल के साऊथ पोर्टल में अभी तक करीब डेढ़ फुट तक बर्फबारी हो चुकी है। वहीं नॉर्थ पोर्टल में भी बर्फबारी जारी है। बात अगर लाहौल-स्पीति जिला की जाए तो यहां बर्फबारी के चलते सभी राष्ट्रीय राजमार्ग व राज्य राजमार्ग सभी प्रकार के वाहनों के लिए बंद हैं। मौसम विभाग ने आज चम्बा, लाहौल-स्पीति और किन्नौर के ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की बर्फबारी जबकि शिमला, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी जिलों में हल्की बारिश होने की संभावना जताई है। अगले 5 दिनों में राज्य के ऊंचे पहाड़ी इलाकों में छिटपुट जगहों पर हल्की बर्फबारी हो सकती है। इसके बाद राज्य में मौसम शुष्क रहेगा।

अटल सुरंग रोहतांग से 24 घंटों में गुजरे 11188 वाहन
जिला लाहौल-स्पिति में नववर्ष के चलते दिन-प्रतिदिन जिला लाहौल स्पिति में सैलानियों की आवाजाही की संख्या में वृद्धि देखने को मिल रही है। इसी क्रम में 29 दिसम्बर को सुबह 8 बजे से 30 दिसम्बर सुबह 08 बजे तक अटल सुरंग रोहतांग से जिला में कुल 11188 वाहनों का आवागमन हुआ। इन वाहनों में प्रदेश के साथ-साथ बाहरी राज्यों के पर्यटकों की काफी संख्या में आवाजाही रही। जिला पुलिस ने सुनिश्चित किया कि सभी वाहन अपने गंतव्य तक सुरक्षित पहुंच जाएं। हिमाचल प्रदेश पुलिस सभी पर्यटक की सुरक्षा व सुखद अनुभव को सुनिश्चित करने के प्रति प्रतिबद्ध है।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।