वीरभूमि पालमपुर में CPS आशीष बुटेल ने फहराया 108 फुट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज
January 25th, 2023 | Post by :- | 38 Views

पालमपुर : वीरभूमि पालमपुर में 108 फुट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया। मुख्य संसदीय सचिव आशीष बुटेल ने संयुक्त कार्यालय परिसर में ध्वजरोहण किया। लगभग 14 लाख रुपए की लागत से इस राष्ट्रीय ध्वज को संयुक्त कार्यालय परिसर में स्थापित किया गया है। यह जिले में सबसे ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज है। इस अवसर पर एसडीएम पालमपुर डाॅ. अमित गुलेरिया, डीएसपी गुरबचन सिंह, नगर निगम की महापौर पूनम बाली, उपमहापौर अनीश नाग, पार्षद गोपाल नाग, संजय राठौर, विनय कपूर, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता करुण शर्मा, प्रदेश कांग्रेस सचिव नरेंद्र ठाकुर, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष त्रिलोक चंद, अर्चित बुटेल, राधा सूद, सुरेंद्र सूद व तहसीलदार पालमपुर सार्थक शर्मा सहित गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

पालमपुर में बनेगा युद्ध स्मारक
मुख्य संसदीय सचिव आशीष बुटेल ने ध्वजारोहण के उपरांत कहा कि पालमपुर में शहीदों तथा वीर सैनिकों के सम्मान में युद्ध स्मारक की स्थापना की जाएगी। वीरभूमि पालमपुर से संबंधित शहीद मेजर सोमनाथ शर्मा को प्रथम सर्वो’च वीरता सम्मान परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया जबकि कारगिल युद्ध में अपना बलिदान देने पर शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा को परमवीर चक्र और मेजर सुधीर वालिया को वीरता सम्मान अशोक चक्र से सम्मानित किया गया है। पालमपुर क्षेत्र के अनेक अन्य वीर जवानों ने भी मातृभूमि के लिए अपना सर्वो’च बलिदान दिया है, ऐसे में 108 फुट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज उनके प्रति कृतज्ञ व्यक्त करने तथा युवा पीढ़ी को प्रेरणा देने का माध्यम बनेगा।

4 समाजसेवी संस्थाओं ने निकाली थी महा तिरंगा यात्रा 
आशीष बुटेल ने कहा कि पालमपुर में 4 समाजसेवी संस्थाओं द्वारा 1025 मीटर लंबे राष्ट्रीय ध्वज के साथ महा तिरंगा यात्रा का आयोजन किया गया था। इस रिकॉर्ड यात्रा में पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार तथा वह भी शामिल हुए थे। उन्होंने 53वें पूर्ण राज्यत्व दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सभी के सहयोग से प्रगति और उन्नति के पथ पर प्रदेश आगे बढ़ा है और हर क्षेत्र में अन्य राज्यों के मुकाबले शीर्ष पर है। उन्होंने राष्ट्रीय मतदाता दिवस की भी बधाई दी। इसके उपरांत उन्होंने लोक निर्माण विश्राम गृह में जनसमस्याएं भी सुनीं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।