हिमाचल में कामगारों के बच्चे कर सकेंगे Ph.D, सरकार उठाएगी खर्चा #news4
August 28th, 2022 | Post by :- | 75 Views

शिमला : प्रदेश सरकार ने कामगारों के कल्याण के लिए हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के माध्यम से कई नई योजनाएं शुरू की हैं। इनके तहत कामगारों को उनके 2 बच्चों की कक्षा पहली से पीएचडी तक पढ़ाई के लिए प्रति वर्ष 8400 से लेकर 120000 रुपए की सहायता राशि प्रदान की जा रही है। बेटी जन्म उपहार योजना के तहत 2 बेटियों के जन्म पर 51-51 हजार रुपए की धनराशि एफडीआर के रूप में प्रदान की जा रही है। दिव्यांग बच्चों के लिए आरंभ की गई योजना के तहत पंजीकृत लाभार्थी के बच्चों की देखभाल के लिए प्रत्येक वर्ष 20,000 रुपए की सहायता राशि, विधवा पैंशन योजना के तहत पंजीकृत लाभार्थी की विधवा को हर माह 1500 रुपए की सहायता राशि प्रदान की जा रही है। पंजीकृत लाभार्थी के बच्चों को होस्टल सुविधा योजना के तहत होस्टल में रहने पर प्रत्येक वर्ष 15000 से लेकर 20000 रुपए तक की राशि दी जा रही है।

ऐसे करवाएं बोर्ड में पंजीकरण 
भवन एवं अन्य सन्निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड में पंजीकरण करवाने के लिए कामगार की आयु 18 से 60 वर्ष तक होनी चाहिए। पंजीकरण के लिए आवेदक को संबंधित श्रम अधिकारी के कार्यालय में पिछले 12 माह में कम से कम 90 दिनों तक भवन एवं अन्य सन्निर्माण कार्यों में काम करने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होता है। कामगारों की सुविधा के लिए बोर्ड द्वारा अपनी वैबसाइट पर भी ऑनलाइन पंजीकरण किया जा रहा है। मौजूदा समय में बोर्ड में 402910 कामगार पंजीकृत हैं, जिनमें मनरेगा के तहत 171783 तथा 231147 अन्य कामगार शामिल हैं। वर्तमान सरकार के कार्यकाल के दौरान 274112 कामगारों का पंजीकरण किया गया है

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।