लाहौल-स्पीति के सिस्सू में आयोजित होगी देश की पहली स्नो मैराथन #news4
March 19th, 2022 | Post by :- | 108 Views

लाहाैल-स्पीति : हिमाचल प्रदेश के जनजातीय जिला लाहाैल-स्पीति में देश की पहली स्नो मैराथन होने जा रही है। 26 मार्च को आयोजित होने वाली इस स्नो मैराथन में देशभर से 100 लोग भाग लेंगे। यह स्नो मैराथन भारत में अपनी तरह का पहली मैराथन होगी। दुनिया में लगभग 10 देशों में आर्कटिक सर्कल, उत्तरी ध्रुव और साइबेरिया जैसे जगह में शीतकालीन स्नो मैराथन आयोजित होती हैं लेकिन भारत में पहली बार शीत मरुस्थल लाहौल घाटी में इस तरह का मैराथन आयोजित हो रही है।

डीसी लाहौल-स्पीति नीरज कुमार ने कहा कि 26 मार्च को रिच इंडिया संस्था व गोल्ड ड्राॅप एडवैंचर लाहौल-स्पीति प्रशासन के सहयोग से स्नो मैराथन आयोजित कर रही है। उन्होंने बताया कि पहली बार आयोजित हो रही इस मैराथन में 100 लोग भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि 26 मार्च को प्रशासन सिस्सू में स्नो फैस्टिवल का आयोजन कर रहा है। स्नो फैस्टिवल के साथ-साथ यह आयोजन वास्तव में लाहौल-स्पीति को खेल और पर्यटन दोनों रूप में मंत्रमुग्ध करने वाली वैश्विक छवि को आगे बढ़ाने में मदद करेगा और यह स्नो मैराथन देश के भीतर एक नए खेल को जन्म देने की पहल करेगा। यह मैराथन लाहौल-स्पीति सहित हिमाचल प्रदेश के लिए लाभकारी होगा। अटल टनल रोहतांग के नाॅर्थ पोर्टल में कोकसर पंचायत के लोग स्नो फैस्टिवल मनाएंगे। यहां स्नो क्राफ्ट, पुरातन वस्तुएं, प्राचीन तीरअंदाजी, स्थानीय उत्पाद के स्टाल और रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि नार्थ पोर्टल से कोकसर पंचायत तक मैराथन का आयोजन किया जाएगा। उसी दिन गोंदला में फूड फैस्टिवल का आयोजन किया जाएगा।

गोल्ड ड्राॅप एडवैंचर के संचालक राजेश चन्द ने बताया कि स्नो मैराथन में फुल 42 किलोमीटर, हाफ 21 किलोमीटर जबकि दौड़ 10 व 5 किलोमीटर के अलावा जॉय रेस एक किलोमीटर की होगी। उन्होंने बताया कि इंडिया में स्नो से जुड़ी बहुत-सी गतिविधियां होती हैं लेकिन स्नो मैराथन पहली बार आयोजित की जा रही है। उन्होंने कहा कि हर खेल में खिलाड़ियों की संख्या सीमित होती है लेकिन मैराथन में हजारों की संख्या में लोग भाग ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि शीत मरुस्थल भूमि लाहौल घाटी में स्नो मैराथन का आयोजन कर देश को एकता का संदेश देना है और खेलों का बढ़ावा देना है।

स्नो मैराथन के आयोजक गौरव सिमर व मुख्य सलाहकार कर्नल अरुण नटराजन व टीम संचालक कर्नल संतोष बारामूला ने बताया कि स्नो मैराथन को प्रशासन के सहयोग से सफल बनाने के हरसम्भव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि पहली बार आयोजित हो रही स्नो मैराथन में सैंकड़ों लोगों के भाग लेने की उममीद है। शुरूआत में यह एक प्राथमिकी प्रयास है लेकिन आने वाले समय मे सभी के सहयोग से इसे बहुत बड़े आयोजन के रूप में मनाया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।