हिमाचल में फिर बढ़ाए सीमैंट के दाम, प्रति बैग 450 रुपए से 525 रुपए तक पहुंचा #news4
December 12th, 2022 | Post by :- | 170 Views

सोलन : नई सरकार बनते ही सीमैंट कंपनियों ने फिर से सीमैंट के दाम 5 रुपए प्रति बैग बढ़ा दिए हैं। प्रदेश में पिछले 20 दिनों में सीमैंट 10 रुपए महंगा हो गया है। सीमैंट कंपनियों ने 3 दिसम्बर को अपने डीलरों को सीमैंट के दाम 5 से 10 रुपए प्रति बैग बढ़ाने का मैसेजदिया था लेकिन दाम सोमवार को बढ़ाए गए। हालांकि सीमैंट के दामों पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है। अब देखना है कि प्रदेश में बनी कांग्रेस सरकार इस दिशा में क्या कदम उठाती है। इससे पूर्व प्रदेश में 21 नवम्बर को सीमैंट के दाम 5 रुपए प्रति बैग बढ़े थे। अब 20 दिन बाद ही फिर से दाम बढ़ गए थे। पंजाब केसरी ने 22 नवम्बर को सीमैंट के बढ़े दामों को लेकर प्रकाशित समाचार में ही 5 रुपए प्रति बैग और दाम बढऩे की संभावना व्यक्त कर दी थी। सोलन में अब सीमैंट की कीमत 450 रुपए प्रति बैग हो गई है। यदि पूरे प्रदेश की बात करें तो 450 रुपए से 525 रुपए प्रति बैग बिक रहा है। सीमैंट कंपनियों ने इस बार सीमैंट के दाम बढ़ाने के लिए चुनाव का समय चुना है। चुनाव के दौरान रेट बढ़ाए होते हो हल्ला मच सकता था लेकिन विधानसभा चुनाव के समाप्त होने के बाद इसकी कीमतें बढऩी शुरू हो गई हैं। बता दें कि प्रदेश सरकार ने सीमैंट उद्योगों पर शिकंजा कसने के लिए उद्योग निदेशक की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी ने उद्योगों के खनन क्षेत्र के साथ सीमैंट प्लांट का निरीक्षण कर सरकार को अपनी रिपोर्ट भी भेजी थी। उसके बाद माना जा रहा था कि सीमैंट उद्योग मनमाने ढंग से दामों को नहीं बढ़ा सकते लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बाद सीमैंट के दाम दो बार बढ़ गए हैं।

अप्रैल में अल्ट्राटैक, ए.सी.सी. अम्बुजा सीमैंट कंपनी ने बढ़ाए थे 

अप्रैल में अल्ट्राटैक, ए.सी.सी. व अम्बुजा सीमैंट कंपनी ने सीमैंट के दाम 30 से 35 रुपए प्रति बैग बढ़ाए थे। अभी आम आदमी इससे भी उभरा नहीं था कि सीमैंट 5 रुपए प्रति बैग फिर महंगा हो गया । अब फिर से इसके दाम बढ़ाने की तैयारी है। पिछले करीब साढ़े चार वर्षों में सीमैंट के दामों में 150 से 200 रुपए प्रति बैग की वृद्धि हुई है। स्थिति यह हो गई है कि पड़ोसी राज्यों में सीमैंट सस्ता है और जहां पर उत्पादन हो रहा है, उस राज्य में सीमैंट महंगा हो गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।