मूलांक 7 के लोग कैसे होते हैं? 7,16 और 25 तारीख के लोगों में होता है अंतर #news4
December 5th, 2022 | Post by :- | 69 Views
अब हम बात करेंगे मूलांक 7 की। 7 नंबर का स्वामी केतु है। केतु रहस्यमयी शक्तियों को दर्शाता है। यह आध्यात्मिक ग्रह भी है। 7 मूलांक वाले जातक बहुत आध्यात्मिक होते हैं। उनका स्प्रिचुअल पावर बहुत स्ट्रांग होता है। यह जीवन में बहुत सारी वह गतिविधियां भी देखने में सक्षम होते हैं। जो आम लोग नहीं देख पाते इन्हें बहुत सारी रहस्यमय चीजें दिखाई देती है। यह दूसरे लोक से संपर्क करने में भी सक्षम होते हैं।
अगर जीवन में यह लोग अध्यात्म को अपनाते हैं तो आध्यात्मिक शक्तियां इन्हें गाइड करती हैं। इन्हें हमेशा महसूस होगा कि जीवन में उनके साथ कोई एक शक्ति ऐसी चल रही है जो इन्हें बहुत बुरे समय से संभाल के लिए आती है। इस मूलांक वाले जातक दृढ़ संकल्पित होते हैं लेकिन इमोशंस के कारण बहुत सारी जगह पर नुकसान भी उठा लेते हैं।

मन के बहुत सरल होते हैं। इनका जीवन संघर्ष से भरा होता है। यह एक आध्यात्मिक नंबर है तो अक्सर देखा गया है कि बहुत जल्दी सांसारिकता से बाहर हो जाते हैं। ये लोग बाहर से ही सबके साथ दिखेंगे लेकिन भीतर से यह जातक ईश्वर के करीब होते हैं। क्योंकि केतु का सर नहीं है इसलिए देखा गया है यह लोग दिमाग की जगह दिल से काम लेते हैं।

किसी भी महीने की 7, 16 और 25 तारीख में जन्मे लोग का मूलांक 7 ही होगा किंतु 16 तारीख में जन्मे लोग के जीवन पर 1 नंबर सूर्य और 6 नंबर शुक्र का प्रभाव देखा जाएगा। अक्सर देखा गया है कि यह लोग रहस्यमयी विद्या ज्योतिष के विद्वान या फिर सर्जन होते हैं। 25 तारीख में जन्मे जातक पर 2 नंबर चंद्र और 5 नंबर बुध का प्रभाव देखा गया है।

ये जातक हमेशा अपनी आध्यात्मिक उन्नति के लिए अग्रसर होते हैं। एक बार में बहुत सारे काम करने की क्षमता इनमें पाई जाती हैं। इन्हें हमेशा कान में सोना पहनना चाहिए। अपने जीवन में बहुत सी धार्मिक यात्राएं करते हैं। केतु ग्रह का प्रभाव होने से यह लोग राजनीति में भी बहुत ऊंचाइयों पर पहुंचते हैं।दिल के साफ होते हैं। इनके जीवन का नकारात्मक पहलू है बहुत जल्दी क्रोधित होना। इन्हें अपने क्रोध पर नियंत्रण करना चाहिए। इन्हें गणपति जी की आराधना करना चाहिए हो सके तो काले कुत्ते को रोटी देना शुरू करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।