लाहौल-स्पीति में बर्फबारी शुरू, रोहतांग में बर्फ के फाहों से हुआ पर्यटकों का स्वागत #news4
November 9th, 2022 | Post by :- | 71 Views

केलांग : जिला लाहौल-स्पीति सहित सभी ऊंचे दर्रों में बर्फबारी का क्रम शुरू हो गया है। बर्फबारी के चलते जिला प्रशासन ने एहतियातन लोसर व कुंजुम पास और शिंकुला पास के दारचाा-शिंकुला मार्ग पर सभी प्रकार के वाहनों की आवाजाही आगामी आदेशों तक बंद कर दी है। डीसी लाहौल-स्पीति सुमित खिमटा ने आदेश जारी करते हुए कहा कि एनएच-505 ग्रांफू-काजा हाईवे और शिंकुला टॉप दारचा-शिंकुला रोड ग्रांफू से लोसर-दारचा से शिंकुला सभी प्रकार के वाहनों की आवाजाही अगले आदेश तक प्रतिबंधित रहेगी। उन्होंने कहा कि बीआरओ द्वारा सड़क बहाल करने के उपरांत एवं बीआरओ से मंजूरी के बाद ही वाहनों की आवाजाही की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने खराब मौसम के कारण स्थानीय लोगों और पर्यटकों को घाटी में यात्रा करते समय सतर्क रहने की सलाह दी है। सभी होटल और होम स्टे मालिकों से भी आग्रह किया है कि वे अपने मेहमानों को भी इसी तरह सलाह दें। किसी भी आपात स्थिति और घाटी के मौसम, सड़क की स्थिति के बारे में अधिक जानकारी और किसी भी प्राकृतिक आपदा व घटना की स्थिति में जिला आपदा नियंत्रण कक्ष लाहौल एवं स्पीति के टोल फ्री नंबर 1077 पर संपर्क करें।

रोहतांग दर्रे से वापस भेजे जा रहे पर्यटक
बुधवार को शिंकुला व बारालाचा दर्रा बंद होने के चलते पर्यटकों ने रोहतांग दर्रे सहित कोकसर व ग्रांफू का रुख किया। दोपहर 12 बजे के बाद रोहतांग दर्रे सहित शिंकुला, बारालाचा व कुंजम दर्रे में बर्फबारी शुरू हो गई। एक बजे के बाद समस्त घाटी में बर्फ के फाहे गिरने का क्रम शुरू हो गया। अटल टनल रोहतांग की ओर गए पर्यटकों का स्वागत भी आज बर्फ के फाहों से हुआ। बर्फबारी के चलते शिंकुला व बारालाचा दर्रा पहले ही प्रशासन द्वारा पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया है। रोहतांग दर्रे से भी पर्यटकों को वापस भेजा जा रहा है।

चुनावों में खलल डाल सकता है मौसम 
12 नवम्बर को होने जा रहे विधानसभा चुनावों में मौसम खलल डाल सकता है। लाहौल-स्पीति में 15256 फुट की ऊंचाई पर दुनिया का टशीगंग सबसे ऊंचा मतदान केंद्र है। 20 मतदान केंद्र लोसर, कीमो, हंसा, हल, खुरिक, चिचम, किबर, टशीगंग, हिक्किम, लांगचा, डेमुल, लालूंगा, ग्यु, ढंखर, सगनम, मने योगमा जबकि लाहौल घाटी के खुरपानी, गोंदला, सिस्सू, तेलिंग, डिम्फुक, यूरनाथ, गुमरंग, कवरिंग, कोलंग, गैमुर, जिस्पा, दारचा, सुमदो, रारिक, योचे, प्यूकर, लापचंग, कारदंग, चिमरट, गहरी, तिगरट, करपट, छालिंग व खंजर शामिल हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी सुमित खिमटा ने कहा कि बर्फबारी के बीच मतदान करवाने के लिए सभी तैयारियां कर ली हैं। सड़क, परिवहन व संचार व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए सीमा सड़क संगठन, भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन व पुलिस सहित लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।