यदि हो गया तीसरा विश्‍व युद्ध तो क्या करेंगे आप? #news4
November 27th, 2022 | Post by :- | 67 Views
इस वक्त यूक्रेन रशिया का वार चल रहा है। चीन और ताईवान, इजराइल और फिलिस्तीन, ईरान और इराक में भी संघर्ष बढ़ गया है। साऊदी अरब का अमेरिका से टकराव चल रहा है। भारत और पाकिस्तान भी संघर्ष के मोर्चे पर है। यूक्रेन के लोगों के पास खाने-पीने को नहीं है। उनके घर तबाह हो गए हैं और वे टेंट, कैंप या कार में रहकर ठंड से बचने का इंतजाम कर रहे हैं। लाखों लोगों ने देश छोड़ दिया, सोचो यदि तीसरा विश्व युद्ध हो गया तो आप क्या करेंगे?
लॉकडाउन : आपने लॉकडाउन से बहुत कुछ सीखा होगा। किस तरह अपनी सेहत का ध्यान रखना है, किस तरह कम वस्तुओं में जीवन यापन करना है और किस तरह किराना, सब्जी और दूध का अरेंज करना है। हालांकि ऐसे भी लाखों लोग थे जिनकी नौकरी चली गई तो वे बचत पर जिंदा रहे। ऐसे भी लाखों लोग थे जिन्होंने एक वक्त की रोटी खाकर जीवन गुजारा। कई लोग पहले से सतर्क नहीं थे तो कोई इंतजाम नहीं कर पाए। आज भी लाखों लोग हैं जिन्होंने लॉकडाऊन से कुछ भी नहीं सीखा। पिछले 3 सालों में लाखों लोग मारे जा चुके हैं महामारी से या युद्ध से।
क्या जरूरी है करना : लॉकडाउन से लोगों ने यह जरूर सीखा कि खुद का घर होना चाहिए और उसमें इतना किराना होना चाहिए कि आराम से 3-4 माह गुजार सकते। हलांकि लॉकडाउन में किसी के घर नहीं टूटे और न ही आसमान से कोई मिसाइल गिरी। यदि युद्ध हुआ तो आप क्या करेंगे? यह डरने वाली बात नहीं समझने वाली बात है। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि संकट काल में मित्र, पत्नी, धन, समझदारी, संयम और धैर्य बहुत काम आते हैं। आपको कानून के नियम का पालन करते हुए काम करना चाहिए। अव्यवस्था फैलाने का कम नहीं करना चाहिए। कम से कम साधनों में जीने का तरीका सीखना चाहिए।
संकट काल में इन वस्तुओं का संग्रह जरूर करें :
1. लालटेन : बिजली संकट कभी भी खड़ा हो सकता है। ऐसे में मोमबत्ती, दीया बत्ती, लालटेन और टॉर्च ही काम आते हैं।
2. सिगड़ी : गैस चूल्हा और इलेक्ट्रिक चूल्हा कभी भी साथ छोड़ सकता है। ऐसे में काम आती है सिगड़ी, चूल्हे का विकसित रूप है।
3. घट्टी, सिलबट्टा और खलबत्ता : अनाज पीसने की छोटी गोल घट्टी, मसाला पीसने का सिलबट्टा या खलबत्ता कभी भी काम आ सकता है।
4. हाथ का पंखा : रूफ या टेबल फेन के अभाव में हाथ का पंखा आज भी काम की चीज है।
5. केतली-सुराही : केतली में आप बहुत देर तक कोई चीज ताजा-गर्म रख सकते हैं और सुराही में पानी ठंडा, स्वच्छ और शीतल बना रहता है।
6. चकमक पत्थर : मासिच या लाइटर नहीं होगा तब आपके बहुत काम आएगा यह पत्‍थर। जंगल में फंस जाएं यह बड़े काम की चीज है।
7. कंपास : उत्तर एवं दक्षिण दिशा बताने वाला कंपास या यंत्र बहुत काम की चीज है।
8. सूखे खाद्य पदार्थ : पहले के लोग घरों में सूखे मेवे, स्नैक या खराब न होने वाले फूड रखते थे। बगैर पकाए इन्हें खा सकते हैं।
9. जरूरी दवाइयां और आयुर्वेदिक नुस्खों की पुस्तकें : यह बहुत जरूरी है, क्योंकि कर्फ्यू, लॉकडाउन या अकेले पड़ने पर यह हमारे काम आती हैं।
10. डंडा : कुत्तों को भगाने या इसके सहारे चलने के लिए यह बहुत उपयोगी है।
11. मल्टीपल वस्तुएं : जैसे मल्टीपल पेचकस, फोल्डिंग सीढ़ी, फोल्डिंग डंडा और ड्रिल मशीन बहतु काम की चीज हैं।
12. सूखा अनाज : आपके पास ज्वार, बाजरा और मक्का होना चाहिए यह बहुत सामय तक सड़ता नहीं है और यह बहुत ताकत देता है।
13. वॉटर टैंक : आपके पास भूमिगत वॉटर टैंक होना चाहिए जो कुछ दिनों तक जल की पूर्ति कर सके। इसी के साथ ही मजबूत बड़ी वॉटर बॉटल भी।
15. अन्य कोई सुरक्षित स्थान : लाखों लोग फ्‍लैट में रहते हैं लेकिन गांव में उनके पुश्तैनी मकान भी है। कई लोगों के पास खुद के निजी फॉर्म हाऊस भी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे news4himachal@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।